अपनी मां और पत्नी से मिले कुलभूषण जाधव…

पाकिस्तान की जेल में बंद कुलभूषण जाधव पाकिस्तानी कूटनीति का नया मोहरा बन गए हैं। जाधव की मां और उनकी पत्नी से मुलाकात करके पाकिस्तान ने राष्ट्रीय, क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय छवि प्रस्तुत करने की कूटनीति को आगे बढ़ा दिया है। इस मुलाकात के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल का बयान बेहद अहम है।

फैसल ने कहा कि पाकिस्तान ने इस मुलाकात की अनुमति इस्लामिक परंपरा के अनुसार मानवता के आधार पर दी है। पाकिस्तान ने सोमवार को कथित भारतीय जासूस कुलभूषण जाधव को ‘भारतीय आतंकवाद का चेहरा’ बताया और कहा कि उन्हें राजनयिक पहुंच दिए जाने के बारे में सही समय पर विचार किया जाएगा। पाकिस्तान ने साथ ही यह भी कहा कि जाधव और उनके परिजनों की यह मुलाकात अंतिम नहीं है।

कुलभूषण जाधव की मां एवं पत्नी ने यहां पाकिस्तानी विदेश कार्यालय में उनसे मुलाकात की। हालांकि, जाधव व उनकी मां-पत्नी के बीच ग्लास पैनल लगे हुए थे और उन्होंने इंटरकॉम के जरिए बातचीत की। कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान में कथित जासूसी के आरोप में फांसी की सजा सुनाई गई है लेकिन यह मामला अंतर्राष्ट्रीय अदालत में लंबित है।
बता दे कि पाकिस्तान में मृत्युदंड की सजा पाए भारतीय नौसेना के पूर्व अफसर कुलभूषण जाधव से उनकी मां अवंतिका और पत्नी चेतना ने इस्लामाबाद स्थित विदेश मंत्रालय में मुलाकात की। हालांकि, इसमें भी पाकिस्तान ने चालबाजी दिखाई और दोनों के बीच शीशे की दीवार खड़ी कर इंटरकॉम फोन से बात कराई। इससे पिछले 22 माह से बेटे से दूर रही मां और पति का विछोह सह रही पत्नी की प्रत्यक्ष मुलाकात की इच्छा भी पूरी नहीं हो पाई |पाक विदेश मंत्रालय के आगाशाही ब्लॉक में जाधव और उनकी मां व पत्नी के बीच बातचीत दोपहर 1.35 बजे शुरू हुई। मार्च, 2016 से पाकिस्तान की जेल में बंद जाधव से मिलने सोमवार सुबह अवंतिका और चेतना दुबई होते हुए इस्लामाबाद पहुंचीं।