अपने बच्चो को कभी न खिलाएं ये चीज, दिमाग होता है प्रभावित…

रायपुर: आज के दौर में बच्चों और युवाओं की पहली पंसद बन गया है फास्ट फूड। शहर के स्कूल और कॉलेजों के बाहर वड़ा पाव, समोसा, पिज्जा, बर्गर, रोल, चऊमीन, चिली और कोल्ड ड्रिंग बेचने वालो की भीड़ होती है।विशेषज्ञों के अनुसार फास्ट फूड के सेवन से दिमाग में गड़बड़ी पैदा हो सकती है। हाल ही में सीबीएसई द्वारा किए सर्वे में यह बात समने आई है कि फास्ट फू ड बच्चों की याददाश्त को लिए घातक है। इसके द्वारा बच्चे गंभीर बीमारियों के शिकार हो रहे है | लोग पौष्टिक आहार को कम, फास्ट फूड को ज्यादा अहमियत देने लगे हैं। यह हमारी जिंदगी को कितना नुकसान पहुंचाता है, लोगों को इस बात का अंदाजा तक नहीं है।यह फ़ास्ट फ़ूड कभी कभी जानलेवा भी साबित होता है |\
फास्ट फूड के सेवन से होती हैं य हानियां:

– निरंतर फास्ट फूड के सेवन से शरीर में शिथिलता पैदा होती है। आप खुद को थका हुआ महसूस करने लगते हैं। पोषक तत्व जैसे प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट की कमी की वजह से फास्ट फूड आपकी ऊर्जा के स्तर को कम कर देता है।

– फास्ट फूड का लगातार सेवन टीनएजर्स में डिप्रेशन का कारण बन सकता है।

– मैदे और तेल से बने ये फास्ट फूड पाचन क्रिया को भी प्रभावित करता है।