अब इंदौर में स्वछता के लिए एक और नई पहल , गन्दगी फ़ैलाने वालो पर होगा दंड ….

अब इंदौर में स्वछता के लिए एक और नई पहल कि शुरुवात कि हे |अब यहाँ वह गन्दगी फ़ैलाने वालो पर दंड लिया जाएगव | सरकार और प्रशाशन कि यह पहल सराहनीय हे |तो बताते हे आपको पूरी खबर जहां-तहां पान-गुटके की पीक थूकने वालों पर 25 दिसंबर से नगर निगम सख्ती बरतेगा। इनसे दंड भरवाकर नाम सार्वजनिक किए जाएंगे। महापौर मालिनी गौड़ ने 500 रुपए का स्पॉट फाइन करने के आदेश दिए हैं। निगम महत्वपूर्ण जंक्शन और बड़े चौराहों के ट्रैफिक सिग्नल के पास फाइन करने वाली टीम तैनात करेगा।

टीम अलग अलग मापदंडो के आधार पर करवाई करेगी |अलग-अलग स्तर पर हुई बैठकों में बड़ी संख्या में यह शिकायत हुई थी कि थूकने वालों पर कार्रवाई की जाए। सड़कों के डिवाइडर, फुटपाथ, चेंबर आदि पान की पीक से रंगे रहते हैं। थूकने वालों के कारण दूसरे लोगों को परेशानी होती है और बीमारियां फैलती हैं। शहर की तकरीबन सभी प्रमुख सड़कों के डिवाइडर थूक से गंदे हो रहे हैं। निगम उन्हें धुलवाता है लेकिन लोग थूककर फिर गंदा कर देते हैं।इसके साथ ही बसों में डस्टबिन अनिवार्य कर दिए गए हे |
निजी और खासतौर से पब्लिक ट्रांसपोर्ट क्षेत्र की बसों में डस्टबिन रखना सोमवार से अनिवार्य किया जा रहा है। सहचालक या कंडक्टर को बस यात्रियों द्वारा खाने-पीने के दौरान निकलने वाला कचरा डस्टबिन में डलवाना अनिवार्य होगा। बाद में गीला और सूखा कचरा अलग-अलग कर निगम के वाहनों को देना होगा। आयुक्त ने जारी आदेश में संचालकों को कहा है कि वे बसों की सफाई करने वालों को यह ताकीद करें कि सफाई के बाद कचरा निगम के वाहन में डालें।पान-गुटखा खाकर जगह-जगह थूकने वालों के खिलाफ नगर निगम ने सोमवार को सख्त कार्रवाई की। इनमें 46 लोगों का 500-500 रुपए वसूले गए |