अमेरिका यात्रा से पहले मोदी ने कहा, भविष्योन्मुखी दृष्टिकोण विकसित करने का लक्ष्य

नयी दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि अमेरिका की आगामी यात्रा के दौरान उनका लक्ष्य द्विपक्षीय साझोदारी के लिए भविष्योन्मुखी दृष्टिकोण विकसित करने और पहले से सुदृढ़ तथा विस्तृत संबंधों को और मजबूत बनाना होगा। मोदी की राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से पहली मुलाकाल 26 जून को वाशिंगटन में होनी है। मोदी ने कहा कि वह विचारों की गहराई से आदान-प्रदान के इस अवसर को लेकर बेहद उत्साहित हैं। उन्होंने ट्वीट किया, मेरी अमेरिका यात्रा का लक्ष्य हमारे देशों के बीच संबंधों को मजबूत बनाना है। भारत-अमेरिका के मजबूत संबंधों से हमारे राष्ट्रों को लाभ होता है। ये भी पढ़ें: कैसे होता है भारत में राष्ट्रपति चुनाव, किसका है पलड़ा भारी, पढ़िए...

फेसबुक पर पोस्ट किये गये एक बयान में मोदी ने कहा कि वह ट्रम्प के न्योते पर 25 जून से दो दिन के लिए वाशिंगटन यात्रा पर जा रहे हैं। उन्होंने लिखा, राष्ट्रपति ट्रम्प और मेरी इससे पहले फोन पर बातचीत हुई है। हमारी बातचीत में अपने लोगों के परस्पर लाभ हेतु सर्वांगीण सकारात्मक संबंधों को आगे ले जाने की समान मंशा पर बात हुई। प्रधानमंत्री ने लिखा है, मैं भारत और अमेरिका के बीच व्यापक और विस्तृत साझोदारी को और मजबूत बनाने को लेकर गहराई से विचारों के आदान-प्रदान के इस अवसर को लेकर उत्साहित हूं।

उन्होंने यह भी कहा कि अमेरिका के साथ भारत की साझोदारी बहुस्तरीय और बहुमुखी है, जिसका ना सिर्फ दोनों देशों की सरकारें बल्कि दोनों ही जगहों के पक्षकार भी समर्थन करते हैं। उन्होंने लिखा है, राष्ट्रपति ट्रम्प के तहत अमेरिका के नये प्रशासन के साथ मैं हमारी साझोदारी के लिए भविष्योन्मुखी दृष्टिकोण विकसित करने को लेकर उत्सुक हूं। ट्रम्प और उनके कैबिनेट सहयोगियों के साथ आधिकारिक बैठकों के अलावा प्रधानमंत्री मोदी अमेरिका के कुछ महत्वपूर्ण सीईओ से भी मिलेंगे। अतीत की तरह वह इस बार भी भारतीय समुदाय के लोगों के साथ बातचीत करेंगे।

यात्रा के प्रथम चरण में मोदी पहले पुर्तगाल जाएंगे, जहां वह प्रधानमंत्री एंटोनियो कोस्टा से मिलेंगे। कोस्टा के साथ अपनी बैठक को लेकर मोदी ने कहा, हाल में हुई हमारी चर्चा के आधार पर हम विभिन्न संयुक्त कदमों और फैसलों की समीक्षा करेंगे। उन्होंने कहा, हम द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत बनाने, विशेष रूप से आर्थकि सहयोग, विज्ञान एवं तकनीक, अंतरिक्ष के क्षेत्र में सहयोग और लोगों के बीच आपसी संबंधों को और बेहतर बनाने पर चर्चा करेंगे। उन्होंने कहा कि दोनों नेता आतंकवाद-निरोध और परस्पर हितों के अन्य अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर भी द्विपक्षीय सहयोग को गहन बनाने के तरीकों पर विचार करेंगे।

मोदी ने कहा, मैं व्यापार और निवेश के क्षेत्र में द्विपक्षीय संबंधों को और गहन बनाने की महत्वपूर्ण क्षमता भी देख रहा हूं। प्रधानमंत्री पुर्तगाल में भी भारतीय समुदाय के लोगों के साथ संवाद करेंगे। अमेरिका यात्रा के बाद मोदी 27 जून को नीदरलैंड्स रवाना होंगे, जहां उनकी प्रधानमंत्री मार्क रूो और राजा विलेम एक्लेस्जेंडर और रानी मैक्सिमा से औपचारिक भेंट होगी। भारत और पुर्तगाल दोनों देश इस वर्ष राजनयिक संबंधों की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ मना रहे हैं। यहां भी प्रधानमंत्री देश के महत्पूर्ण सीईओ से मिलेंगे।