असम में बाढ़ से मरने वालों की संख्या 44 पर पहुंची, करीब 17.2 लाख लोग प्रभावित

गुवाहाटी : असम में बाढ़ की स्थिति बुधवार को और भी खराब हो गई, यहां 24 जिलों में करीब 17.2 लाख लोगों के बाढ़ से प्रभावित होने की रिपोर्ट है. असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) ने बताया कि अभी तक 2,500 गांव ब्रह्मपुत्र नदी और उसकी सहायक नदियों की चपेट में आ चुके हैं.

बुधवार को पांच और लोगों की मौत

एएसडीएमए ने बताया कि बुधवार को पांच और लोगों की मौत के बाद यहां बाढ़ संबंधी घटनाओं में मरने वालों की संख्या 44 पर पहुंच गई. इस बीच मुख्यमंत्री सरबानंद सोनोवाल ने अपने निर्वाचन क्षेत्र का दौरा किया और बाढ़ग्रस्त लोगों को राहत देने का आश्वासन दिया.सोनोवाल ने जिला प्रशासन से बाढ़ प्रभावित लोगों को पीने का पानी सहित अन्य राहत सामग्री मुहैया करवाने को कहा है.

सीएम ने काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान का दौरा किया

मुख्यमंत्री ने काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान और बागोरी और कोहोरा रेंज में बुरी तरह प्रभावित विभिन्न जलमग्न वन शिविरों का भी दौरा किया. विश्व धरोहर काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान (केएनपी) का करीब 75 प्रतिशत हिस्सा बाढ़ की चपेट में आ गया, जिसमें दो मादा हॉग हिरण, एक एक नर स्वैम्प हिरण बह गए.

7,814 लोगों को बचाया गया

एएसडीएमए बुलेटिन ने बताया गया कि राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ), राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) ने अधिकारियों और पुलिस के साथ मिलकर 16 जिलों के करीब 7,814 लोगों को बचाया.