आईएस संदिग्ध टोंक के अनस का ऐसा है परिवार

टोंक. राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनआईए) की ओर से संदिग्ध आतंकी के रूप में हैदराबाद में पकड़ा गया पुरानी टोंक निवासी अबु अनस 15 दिन पहले ही टोंक आया था। पड़ोसियों ने बताया कि अनस हैदराबाद में सॉफ्टवेयर इंजीनियर है। वह करीब 13 दिन पहले टोंक आया था और 5-7 दिन तक टोंक स्थित घर में रुका था। इस दौरान उसने पुराने दोस्तों सहित सभी से मुलाकात की थी। हालांकि वह बोलता बहुत कम था। अधिकतर समय घर में रहता था। दोस्तों से मुलाकात के लिए शाम को ही घर से निकलता था।पड़ोसियों के मुताबिक अनस किसी से झगड़ा भी नहीं करता था। उसके आतंकी संगठन में शामिल होने पर मोहल्ले के लोग भी अचम्भित हैं। एक साल पहले ही हैदराबाद में उसकी एक निजी कम्पनी में नौकरी लगी है। अनस का छोटा भाई अबुल एसिन इंजीनियरिंग पूरी करने के बाद जयपुर में रहकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा है। पता यहां एक बीड़ी फैक्ट्री में काम करते हैं। जबकि मां गृहणी है।

सुबह ही चला गया परिवार

पड़ोसियों ने बताया कि शुक्रवार रात तक अनस के पिता मुश्ताक अहमद व परिवार के लोग घर पर ही थे, लेकिन सुबह करीब 6 बजे वे दिल्ली के लिए रवाना हो गए। इसके बारे में उन्होंने किसी को कुछनहीं बताया। अनस के बारे में पता लगने पर मुश्ताक के मिलने वाले कई लोग घर आए, लेकिन घर बंद देख लौट गए।

सुनकर आश्चर्य हुआ

पड़ोसी रज्जाक व सलीम ने बताया कि अनस को बचपन से जानते हैं। उसने कभी किसी से झगड़ा तक नहीं किया, लेकिन उसकी गतिविधियां किसी आतंकी संगठन के साथ हैं, ये सुनकर आश्चर्य हुआ है। गत दिनों जब अनस टोंक आया तब ऐसा लगा ही नहीं कि वह किसी ऐसे संगठन में शामिल है। शहर भर में रही चर्चा

शहर के युवा का नाम किसी का नाम आतंकी संगठन से जुडऩे से हर कोई हतप्रभ है। इसको लेकर दिन भर शहर में चर्चाएं रही। हर कोई उसके बारे में जानकारी करने में जुटा था। कोई उसके दोस्तों के बारे में पुछ रहा था तो कोई पिता के बारे में जानकारी ले रहा था।

जानकारी नहीं है

राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी ने टोंक के किसी युवक को आतंकी के रूप में पकड़ा है। इसकी जानकारी नहीं है। पुलिस मुख्यालय की ओर से भी कोई निर्देश नहीं मिले।

– दीपक कुमार, पुलिस अधीक्षक, टोंक।

Leave a Reply