आखिर क्यों मां नहीं बन पाती हैं कुछ महिलाएं, जानिए 7 कारण

नई दिल्ली: हर महिला का सपना होता है मां बनना. प्रेग्नेंसी के वो 9 महीने एक्सपीरिएंस करना, हर दिन होने वाले बच्चे के बारे में नए-नए सपने बुनना. लेकिन इस सपने को फीमेल इंफर्टिलिटी (बांझपन) चूर-चूर कर देता है. एक या दो नहीं बल्कि कई महिलाएं इस परेशानी से जूझती हैं. इस कारण उनके मां बनने का सपना बहुत मुश्किल हो जाता है. बांझपन का कोई एक कारण नहीं बल्कि खाने से जुड़ा कोई रोग या एन्‍डोमीट्रीओसिस (महिलाओं से संबंधित बीमारी जिसमें पीरियड्स और सेक्स के दौरान दर्द होता है) बांझपन की वजह बन सकता है.

आप फीमेल इंफर्टिलिटी के शुरुआती लक्षणों को जानकर इस परेशानी से जल्दी छुटकारा पा सकती हैं. जितना जल्दी इलाज उतना जल्दी निजाद. लेकिन इसके लिए आपको नीचे दिए गए लक्षण पहचानने होंगे

1. पीरियड्स की परेशानी
अनियमित पीरियड्स, पीरियड्स के दौरान दर्द या फिर पीरियड्स ना होना, अगर आपको इन तीनों में से कोई भी परेशानी है तो आपके फीमेल इंफर्टिलिटी की परेशानी हो सकती है. कई लड़कियों को समय पर पीरियड्स नहीं होते, तो किसी को पीरियड्स के दौरान बहुत दर्द होता है, इन दोनों वजह से भी बांझपन का खतरा बना रहता है. अगर आपको भी ये परेशानी हो तो आज ही अपने डॉक्टर को दिखाएं.

2. गर्भाशय से खून निकलना
पीरियड्स के अलावा कभी-कभी गर्भाशय में हल्का-हल्का खून निकलना भी बांझपन का कारण हो सकता है. इस तरह की ब्लीडिंग को फाइब्रॉएड्स कहते हैं, यह एक प्रकार का ट्यूमर होता है. यह ट्यूमर मसल्स में टिशू के ज्यादा बनने पर होता है. इस परेशानी के पीड़ित महिलाएं गर्भ धारण कर भी लें लेकिन इस ट्यूमर की वजह से मिसकैरेज का खतरा बहुत बड़ जाता है. कई मामलों में इसका इलाज सर्जरी के जरिए किया जाता है.

3. सेक्स के दौरान दर्द
सेक्स के दौरान दर्द नहीं होना चाहिए लेकिन अगर आपको सेक्स के दौरान दर्द या पेन महसूस होता है तो इसे अवॉइड ना करें बल्कि डॉक्टर से तुरंत बात करें. इसकी वजह एन्‍डोमीट्रीओसिस या फिर बॉवेल मूवमेंट भी हो सकते हैं.

4. डिप्रेशन या नींद ना आना
एन्‍डोमीट्रीओसिस में पीरियड्स के दौरान आपको नींद ना आने की शिकायत हो सकती है. वहीं, संभव है कि इससे आपको डिप्रेशन से भी गुज़रना पड़े. इस स्थिति में तुरंत अपने डॉक्टर को दिखाएं. पता करें कि यह बांझपन के लक्षण तो नहीं.

5. फेस के बाल बढ़ना 
शरीर में टेस्टोस्टेरोन बढ़ने की वजह से चेहरे पर बाल भी बढ़ सकते हैं. खासकर अपर लिप्स एरिया और थोढ़ी पर. इसी के साथ छाती और पेट पर भी बाल हो सकते हैं. इसके अलावा सिर के बाल पतले होने की समस्या भी देखी जाती है. ये सभी बदलाव और लक्षण सेक्स हार्मोन यानी टेस्टोस्टेरोन में अव्यवस्था के कारण होते है. ऐसी अवस्था में डॉक्टर को जरूर दिखाएं.

6. अचानक वज़न बढ़ना
कोई भी महिला खुद को मोटा होता नहीं देख सकती लेकिन वज़न में बदलाव कई कारणों से आता है. खाने पीने में बदलाव और एक्सरसाइज़ के बावजूद अगर वज़न कम ना हो तो यह फीमेल इंफर्टिलिटी हो सकती है.

7. सेक्स से मन हटना
सेक्स में मन ना लगने का सीधा संबंध बांझपन से नहीं है, लेकिन इन दोनों में कनेक्शन है. लो लिबिडो (कामेच्छा में कमी) की वजह से डिप्रेशन होता है, डिप्रेशन से स्ट्रेस और सेक्स के दौरान (एन्‍डोमीट्रीओसिस के कारण) दर्द होता है. अगर ऐसा हो डॉक्टर को जरूर चेक कराएं.