आदि शंकराचार्य की प्रतिमा के लिए निकलेंगी चार यात्राएं

ओंकारेश्वर में आदि शंकराचार्य की 108 फीट ऊंची प्रतिमा लगाने के लिए प्रदेश के सभी जिलों से धातु संग्रह किया जाएगा। इसके लिए साधु-संतों की मौजूदगी में रीवा, उज्जैन, ओंकारेश्वर एवं अमरकंटक से 19 दिसंबर को एक साथ यात्राएं निकलेंगी, जिनका समापन 22 जनवरी को होगा। इसी दिन ओंकारेश्वर में प्रतिमा के लिए शिलान्यास भी किया जाएगा।

रविवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मौजूदगी में आयोजन की रूपरेखा बनाई गई। इस दौरान यह भी तय किया गया कि हर संभाग में यात्रा के साथ मुख्यमंत्री चौहान भी कार्यक्रम में मौजूद रहेंगे। यात्रा के साथ साधु-संतों की टोली और एक बड़ा कलश भी चलेगा, जिसमें आदि शंकराचार्य की प्रतिमा के लिए जनता से धातु का संग्रह किया जाएगा।

चारों यात्राओं का समागम 22 जनवरी 2018 को ओंकारेश्वर में होगा, इसी दिन प्रतिमा के लिए शिलान्यास भी किया जाएगा। संस्कृति विभाग इस कार्यक्रम के लिए व्यापक स्तर पर तैयारियां कर रहा है। बैठक में संस्कृति विभाग के प्रमुख सचिव, जनअभियान परिषद के अधिकारी, सीएम के प्रमुख सचिव एसके मिश्रा एवं संस्कृति विभाग के अधिकारी भी मौजूद थे।