आनंदपाल एनकाउंटर : नागौर में भारी तनाव, एक की मौत, 20 पुलिसकर्मी घायल, कर्फ्यू लगाया

नागौर: कुख्यात गैंगस्टर आनंदपाल सिंह के पुलिस मुठभेड़ में मारे जाने के बाद राजस्‍थान में बवाल मचा हुआ है. राजपूत समाज के लोग एनकाउंटर को फर्जी बताते हुए सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं. घटना की सीबीआई जांच की मांग करते हुए नागौर जिले में भारी संख्‍या में जमा हुए राजपूत समाज के लोगों की बुधवार को पुलिस से झड़प हो गई. भारी तनाव को देखते हुए वहां कर्फ्यू लगा दिया गया है और इंटरनेट सेवा भी बंद कर दी गई

भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस की तरफ से की गई फायरिंग में एक की मौत हो गई. घटना में 20 पुलिसकर्मी घायल हो गए. हालांकि अभी तक 16 पुलिसकर्मियों के घायल होने की पुष्टि की गई है. मीडिया रिपोटर्स के मुताबिक सीबीआई जांच की मांग को लेकर करीब 50 हजार राजपूत जमा हुए थे. इस घटना के बाद इलाके में धारा 144 लागू कर दी गई है. खबर है कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने मंत्रियों की आपात बैठक भी बुलाई है.

और पढ़ें : पुलिस एनकाउंटर में मारा गया 5 लाख का ईनामी कुख्यात अपराधी आनंदपाल सिंह

भीड़ का हंगामा शुरू होते ही मौके पर मौजूद राजपूत बिरादरी के कुछ लोगों ने पुलिस के वाहनों में आग लगा दी. घटना की सूचना मिलते ही पुलिस बल ने पूरे इलाके को चारों तरफ से घेर लिया. हिंसा भड़कने की खबर के बाद सरकार ने नागौर में इंटरनेट और बिजली की सप्लाई बंद कर दी है.

प्रदर्शनकारियों ने डिडवाना के पास रेलवे ट्रैक से फिशप्लेट उखाड़ने की भी कोशिश की. गौरतलब है कि आनंदपाल की मौत के बाद से ही उसके गांव सांवराद में हजारों की संख्या में राजपूत समाज के लोग जुटे हैं. लोगों का कहना है कि पुलिस की तरफ से किया गया एनकाउंटर फर्जी है.