इंडियन एयरफोर्स की अवनी चतुर्वेदी ने रचा इतिहास

भारतीय महिला किसी से कम नहीं है और किसी भी क्षेत्र में वो अपना लोहा मनवा चुकी है, अब इंडियन एयरफोर्स की फ्लाइंग ऑफिसर अवनी चतुर्वेदी ने एक ऐसे कारनामे को अजनम दिया है कि इतिहास के पन्नो में उनका नाम दर्ज किया जा रहा है. अवनि फाइटर प्लेन को अकेले उड़ाने वाली देश की पहली महिला फाइटर पायलट बन गई हैं, अवनी ने गुजरात के जामनगर में अपनी पहली ट्रेनिंग में अकेले मिग-21 बाइसन फाइटर प्लेन उड़ा कर इतिहास बना दिया है.

महिला फाइटर पायलट बनने के लिए पहली बार तीन महिलाओं अवनि चतुर्वेदी, मोहना सिंह और भावना कांत को 18 जून 2016 को वायु सेना में कमिशन किया गया था, एएनआई से बात करते हुए एयर कमोडोर प्रशांत दीक्षित ने कहा कि ‘यह भारतीय वायु सेना और पूरे देश के लिए एक विशेष उपलब्धि है. अभी तक सिर्फ ब्रिटेन, अमेरिका, इजरायल और पाकिस्तान में महिलाएं फाइटर पायलट बन सकती हैं.

गौतरलब है कि केंद्र सरकार ने साल 2015 में महिलाओं को फाइटर पायलट में शामिल करने का फैसला किया था. अवनि की इस बहादुरी ने ये साबित किया है कि सरकार का फैसला गलत नहीं था और आने वाले समय में भारतीय सैन्य दल में महिलायें भी देश की सुरक्षा में हर मौके पर पुरुष सैनिको के साथ कदम से कदम मिला कर चलती नज़र आएंगी.