इतने प्रकार की होती है मंदबुद्धिता

मंदबुद्धिता को मानसिक आयु के अनुसार समझने कीक्षमता द्वारा मापा जाता है ( बुद्धिमत्ता गुणक या IQ). मंदबुद्धिता की चार विभिन्न श्रेणियां होती हैं: हल्की, मध्यम, गंभीर और गहन. ये श्रेणियां व्यक्ति के क्रियाशीलता स्तर पर आधारित होती हैं.

हल्की मंदबुद्धिता: 

लगभग 85 प्रतिशत मंदबुद्धि जनता हल्की मंदबुद्धिता श्रेणी में होती है. उनका IQ स्कोर 50 से 75 के दायरे में होता है, और वे अकसर छठी कक्षा के स्तर तक शैक्षणिक कौशल हासिल कर सकते हैं. वे काफी हद तक स्वतंत्र हो सकते हैं और कई मामलों में समुदाय और सामाजिक सहारे द्वारा, स्वतंत्र रूप से रह सकते हैं.

मध्यम मंदबुद्धिता:

मंदबुद्धि जनता का करीब 10 प्रतिशत मध्यम रूप से मंदबुद्धिताग्रस्त माना जाता है. मध्यम मंदबुद्धि व्यक्तियों के IQ स्कोर 35 से 55 के बीच होते हैं. वे मध्यम स्तर के पर्यवेक्षण में कार्य और स्वयं की देखभाल के कार्य कर सकते हैं. वे बचपन में संपर्क के कौशल हासिल कर लेते हैं और समुदाय में पर्यवेक्षित पर्यावरण जैसे किसी सामूहिक गृह में रहने और सफलतापूर्वक कार्य करने की क्षमता रखते हैं.

गंभीर मंदबुद्धिता:

करीबन 3 से 4 प्रतिशत तक मंदबुद्धि जनता गंभीर रूप से मंदबुद्धिताग्रस्त होती है. गंभीर रूप से मंदबुद्धि व्यक्तियों के IQ स्कोर 20 से 40 के बीच होते हैं. वे अपनी देखभाल के अत्यंत मौलिक और कुछ संपर्क के कौशल सीख सकते हैं. कई गंभीर रूप से मंदबुद्धि व्यक्ति सामूहिक गृह में रह सकते हैं.

गहन मंदबुद्धिता:

मंदबुद्धि जनता का केवल 1 से 2 प्रतिशत ही गहन मंदबुद्धिता की श्रेणी में आता है. गहन मंदबुद्धि व्यक्तियों का IQ स्कोर 20 से 25 के बीच होता है. वे उचित सहायता और अभ्यास द्वारा अपनी मौलिक देखभाल और संपर्क के कौशलों का विकास कर सकते हैं. उनकी मंदबुद्धिता अकसर किसी साथ में होने वाले नाड़ीतंत्रीय विकार के कारण होती है. गहन रूप से मंदबुद्धि लोगों को उच्च स्तरीय संरचना और पर्यवेक्षण की आवश्यकता होती है.

Leave a Reply