उत्तर भारत में जोरदार ठण्ड ,यातायात हुआ प्रभावित …

उत्तर भारत में जोरदार ठण्ड पड़ रही हे | जिसका असर साफ देखा जा रहा हे |कई जगह यातायात प्रभावित हुआ हे | एवं पहाड़ो पर हो रही बर्फ़बारी से पुरे हिंदुस्तान में शीत लहार का प्रकोप बरक़रार हे |नए वर्ष का स्वागत घने कोहरे के बीच किया। हालांकि दिन चढ़ने के साथ धुंध की चादर कहीं कहीं छटने लगी। तापमान 5.6 आंका गया है। खराब दृश्यता के कारण रेल और हवाई सेवाओं पर गहरा प्रभाव पड़ा। पहाड़ी इलाक़ों में बर्फबारी जारी है और इसका असर मैदानी इलाक़ों में देखने को मिल रहा है। लगातार बर्फबारी के चलते उत्तर भारत पर कोहरे के साथ शीतलहर की भी मार पड़ रही है| कोहरे का असर ट्रेन और उड़ानों पर पड़ा है। घने कोहरे के चलते मार्ग साफ न दिखने की वजह से आज सुबह दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय (आईजीआई) हवाई अड्डे पर 500 से अधिक उड़ानों में देरी हुई और 23 उड़ानें रद्द कर दी गईं।कोहरे और कम दृश्यता के चलते करीब 20 फ्लाइट लेट हुईं वहीं 6 को रद्द करना पड़ा। इसके अलावा 64 ट्रेनें लेट हो गईं जबकि 24 को रिशेड्यूल किया गया। इसके अलावा 21 ट्रेनें रद्द हुई हैं। ठण्ड के चलते देश की राजधानी ही नहीं बल्कि पूरे उत्तर भारत में शीलतहर का प्रकोप जारी है। धुंध और रनवे पर दृश्यता के बेहद खराब स्तर की वजह से करीब 20 उड़ानों को रद्द करना पड़ा, 150 से अधिक उड़ानों में देरी हुई और लगभग 50 विमानों के मार्ग में परिवर्तन किया गया। कोहरे से रेल सेवाएं भी अप्रभावित नहीं रहीं।
श्रीनगर में देखि गयी सबसे सर्द रात:
श्रीनगर के लोगों ने रविवार की रात न्यूनतम तापमान माइनस 4.4 डिग्री सेल्सियस के बीच मौजूदा सर्दियों की सबसे ठंडी रात रही । श्रीनगर में सोमवार का अधिकतम तापमान 10.2 डिग्री सेल्सियस, जबकि न्यूनतम तापमान माइनस 4.4 रिकॉर्ड किया गया। मौजूद सर्दियों में यह श्रीनगर में अब तक का सब से कम न्यूनतम तापमान है। पहलगाम में माइनस 5, गुलमर्ग में माइनस 7.5, लेह में माइनस 14.5, शिमला में 2.7 और केलंग में माइनस 9.2 डिग्र्री सेल्सियस तापमान रहा।