एकात्म मानववाद से दूर हो सकेगा गरीब-अमीर का अंतर

भोपाल.मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि विश्व में बढ़ रही भौतिकवादी प्रवृत्ति से अमीरी और गरीबी का अंतर काफी बढ़ गया है। इससे मनुष्य की आंतरिक शक्ति और शांति छिन्न-भिन्न हो गई है। उन्होंने कहा कि वैश्विक समाज में एकरूपता लाने के लिये जरूरी है कि अमीरी-गरीबी के बीच के अंतर को कम से कम किया जाए।
– चौहान ने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय के एकात्म मानववाद के सिद्धांत से प्रेरणा लेकर अमेरिका सहित संपूर्ण विश्व के सामने वर्तमान में व्याप्त ग्लोबल वार्मिंग, गरीबी, बेरोजगारी, भौतिकवाद से उत्पन्न, ड्रग्स, महिला उत्पीड़न और असमानता जैसी चुनौतियों का मुकाबला किया जा सकता है।
– मुख्यमंत्री मंगलवार को वाशिंगटन डीसी में विश्व प्रसिद्ध रसेल सीनेट हॉल में भारतीय दूतावास के सहयोग से फाउंडेशन फॉर इंडिया एंड इंडिया डायस्पोरा स्टडीज यूएसए द्वारा पंडित दीनदयाल उपाध्याय फोरम के शुभारंभ सत्र को संबोधित कर रहे थे।
– कार्यक्रम में अमेरिकी सीनेट के सदस्य राजा कृष्णमूर्ति, पीटे ओलसन और राम माधव सहित 200 से अधिक विशिष्टजन उपस्थित थे। मुख्यमंत्री द्वारा एकात्म मानववाद की सरल व्याख्या से प्रभावित होकर उपस्थित सभी आमंत्रितों ने खड़े होकर तालियों से मुख्यमंत्री का अभिवादन किया।