करुणानिधि की बीमारी से दुखी हो 21 लोगों के मरने का दावा

चेन्नई। द्रमुक ने दावा किया है कि पार्टी अध्यक्ष करुणानिधि की बीमारी से दुखी होकर अब तक 21 कार्यकर्ताओं की मौत हो चुकी है। हालांकि इनकी पहचान उजागर नहीं की गई है। पार्टी ने कार्यकर्ताओं से इस तरह का कोई कदम नहीं उठाने की अपील की है।

करुणानिधि को 28 जुलाई को कावेरी अस्पताल में भर्ती कराया गया और तब से वह आईसीयू में ही हैं। पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष और करुणानिधि के उत्तराधिकारी स्टालिन ने कहा कि वे एक भी पार्टी कार्यकर्ता की क्षति बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं। इस तरह के किसी अतिवादी कदम को नहीं उठाने की अपील करते हुए उन्होंने कहा कि प्रत्येक कार्यकर्ता को कर्तव्य, अनुशासन और गरिमा के सिद्धांतों का पालन करना चाहिए, जिस पर अन्ना को गर्व हो।

पार्टी के दूसरे बड़े नेताओं ने ऐसी घटनाओं पर दुख जताने के साथ ही उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। अस्पताल की ओर से जारी बयान का हवाला देते हुए स्टालिन ने कहा है करुणानिधि की हालत सामान्य है और वे डॉक्टरों के एक पैनल की सतत निगरानी में हैं। इस बीच बुधवार को तमिल अभिनेता विजय ने द्रमुक अध्यक्ष का हालचाल जाना।