कांग्रेस ने मानी अपनी हार – शिवराज

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने आज डाबरी, पट्टावारी, समावारी और रानीपुर में रोड शो के दौरान जनता से सीधी बात की और कहा कि घोड़ाडोंगरी विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस ने यदि जनता के सुख सुविधाओं की ओर ध्यान दिया होता तो भारतीय जनता पार्टी सरकार को इतनी मशक्कत नहीं करना पड़ती। घोड़ाडोंगरी क्षेत्र में विकास की जो भी संभावनाएं शेष हैं उन्हें मंगलसिंह धुर्वे आपके विधायक के रूप में धरातल पर उतारेंगे। घोड़ाडोंगरी क्षेत्र विकास का आदर्श नगरीय केन्द्र के रूप में सुविधा सज्जित किया जायेगा। डाबरी में जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि देश में वनभूमि पर अधिकार पत्र देकर भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने डेढ़ लाख से अधिक वनवासियों को भूमि स्वामित्व का गौरव दिया है। परंपरागत कब्जे में भूमि पर खेती करने वाला कोई भी वनवासी भूमि के स्वामित्व से वंचित नहीं रहने दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार ने रोटी, कपड़ा, मकान के मामले में किसी को विपन्न नहीं रहने की चुनौती स्वीकार की है। 15 रू. किलो खरीदा गया गेहूं, 1 रू. किलो में बीपीएल वनवासी, दलित परिवारों को वितरित किया जा रहा है। इससे होने वाली बचत से गरीब सुख सुविधाएं जुटाने में समर्थ हो गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आवासहीनों को आवासीय भूखण्ड के पट्टे वितरित कराने का अभियान युद्ध स्तर पर चलाया जा रहा है। मध्यप्रदेश में कोई परिवार आवासहीन नहीं रहने दिया जायेगा। कांग्रेस को जनता को मिलने वाली सुविधाएं रास नहीं आ रही है। कांग्रेस के लिए चुनाव आचार संहिता का मतलब प्रशासन का लकवा ग्रस्त बना दिया जाना है। रूटीन कार्य प्रशासन कैसे रोक सकता है। कांग्रेस ने उपचुनाव में मानो पराजय स्वीकार कर ली है और विरोध के लिए विरोध, निर्वाचन आयोग को शिकायत करना शगल बना लिया है। उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति, जनजाति को संविधान प्रदत्त आरक्षण की सुविधा उपलब्ध है। आरक्षण की सुविधा उपलब्ध है। आरक्षण की सुविधा उन्हें सुनिश्चित हो यह हमारा प्रयास है। आरक्षण के मामले में कोई छेड़छाड़ नहीं करने दी जायेगी। चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री कह चुके हैं कि आरक्षण की सुविधा दलित, आदिवासियों से कोई भी ताकत छीन नहीं सकती है।

Leave a Reply