काबुल बम धमाके में 19 की मौत, 319 घायल, PM मोदी ने की कड़ी निंदा

बुधवार को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल को एक बड़े बम धमाके ने दहला दिया है। अब तक मिली जानकारी के मुताबिक वजीर अकबर खान क्षेत्र में विस्फोटकों से भरी एक कार में 8.35 मिनट पर बम धमाका हुआ है। घटनास्थल भारतीय दूतावास 1.5 किलोमीटर की दूरी पर है। यहां से राष्ट्रपति भवन भी नजदीक ही है, इसके अलावा अन्य देशों के दूतावास भी इसी क्षेत्र में हैं।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस धमाके में 50 लोगों के मरने या घायल होने की खबर है। हालांकि धमाके के बाद भारतीय दूतावास सुरक्षित है, खिड़कियों को कुछ नुकसान जरूर पहुंचा है। घटना के बाद भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट किया है। सुषमा ने कहा कि ईश्वर की कृपा है कि काबुल में हुए बड़े बम धमाके के बाद सभी भारतीय सुरक्षित है। कहा जा रहा है कि जर्मन और ईरानी दूतावास को इस हमले के जरिए निशाना बनाया गया था।
धमाका इतना तेज था कि कई किलोमीटर तक इसकी आवाज सुनी गई। स्थानीय निवासी दानिश ने बताया कि बेहद शक्तिशाली धमाके के बाद 30 से ज्यादा वाहन नष्ट हो गए हैं। इससे पहले इसी साल मार्च में ISIS ने काबुल में अमेरिकी दूतावास को भी निशाना बना गया था। जिसमें 30 लोगों की मौत हुई थी।
अफगानिस्तान के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बम धमाके में 19 लोगों की मौत और 319 लोगों के घायल होने की पुष्टि की है।
> न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक बम धमाके में मरने वालों की संख्या 15 हो गई है जबकि 300 लोगों के घायल होने की आशंका है।
>पीएम मोदी ने कहा है कि भारत अफगानिस्तान की आतंक के खिलाफ हर लड़ाई में साथ है। जो आंतक को सपोर्ट कर रहे हैं उन्हें हराया जाना जरूरी है।
>प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अफगानिस्तान में हुए बम धमाके की निंदा करते हुए पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।
>काबुल बम धमाके के बाद ऑस्ट्रेलियन दूतावास को बंद कर दिया गया है।
>30 से ज्यादा वाहनों के नष्ट होने की खबर।
> जर्मन और ईरानी एंबेसी के बेहद नजदीक हुआ बम धमाका।

https://twitter.com/ANI_news/status/869778890205442048/photo/1

Leave a Reply