किसानों के आंदोलन की आग को शांत करने के लिए आज 11 बजे से शिवराज की भूख हड़ताल

मध्यप्रदेश के मंदसौर में पुलिस फायरिंग में हुई छह किसानों की मौत के बाद विपक्ष के निशाने पर आए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शनिवार से भूख हड़ताल पर बैठेंगे। शिवराज ने कहा कि वो प्रदेश में शांति बहाली के लिए अनिश्चित कालीन उपवास करेंगे। शिवराज सिंह ने कहा कि वे 11 बजे से दशहरा मैदान में बैठेंगे।
इसके लिए दशहरा मैदान में मंच बनाया जा रहा है और शिवराज के रात्रि विश्राम के लिए मंच के नीचे ही एक कमरा बनाया गया है। शिवराज इस दौरान किसानों से मिलने के लिए खुला दरबार का आयोजन भी करेंगे।

मध्यप्रदेश में किसानों का आंदोलन चरम पर है और इसका केंद्र बना है मंदसौर, जहां पिछले 48 घंटों में आधा दर्जन किसान पुलिस की गोलियों से अपनी जान गंवा चुके हैं।

प्रदेश सरकार के तमाम प्रयासों के बाद भी मंदसौर में किसानों का गुस्सा थमने का नाम नहीं ले रहा है, जिसके चलते सरकार की सांसे अटकी हुई हैं। मंदसौर और मध्यप्रदेश के अन्य जिलों में किसानों का यह आंदोलन प्रदेश सरकार के साथ साथ केंद्र सरकार के गले की भी हड्डी बनता जा रहा है, सरकार नहीं चाहती की ये आग ज्यादा बढ़े जिसकी तपिश उसे 2018 में होने वाले विधानसभा चुनावों और उसके एक साल बाद होने वाले लोकसभा चुनावों में भुगतना पड़े।

हालांकि मंदसौर में जिस तरह किसानों का बवाल बढ़ता जा रहा है और विपक्षी दलों ने इस मुद्दे को गर्माना शुरू कर दिया है उससे प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। पहले व्यापमं, उसके बाद डंपर घोटाले और फिर कुछ दिन पहले ही हुए पीएससी घोटाले के चलते वह पहले से ही विरोधियों के निशाने पर हैं।