कैंसर से परेशान महिला सशक्तिकरण अधिकारी ने फांसी लगाकर जान दी

लसूड़िया थाना क्षेत्र में रहने वाली एक महिला ने फांसी लगाकर जान दे दी। शनिवार सुबह उसका शव कमरे के अंदर फंदे पर मिला। पुलिस के मुताबिक महालक्ष्मी नगर के पास सन सिटी में रहने वाली नीलम पति वीरेंद्र सूद का शव बेटों ने फंदे पर लटके देखा।

उनके शोर मचाने पर पड़ोसी इकट्ठा हुए और नीलम को एमवाय अस्पताल लाया गया। यहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस जांच में पता चला कि नीलम देवास में महिला बाल विकास विभाग में महिला सशक्तिकरण अधिकारी थीं। पति वीरेंद्र से उनका तलाक हो चुका था। वे दो बेटों के साथ सन सिटी में रह रही थीं। कुछ महीने से नीलम कैंसर से परेशान थी। उसी तनाव में नीलम ने आत्महत्या कर ली।

सीएम ने किया था पुरस्कृत

वर्ष 2013 में नीलम की पदस्थापना हुई थी, तब से वे यहीं कार्यरत थीं। बाल विवाह के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने पर मुख्यमंत्री ने उन्हें पुरस्कृत किया था। बीमारी के कारण वे करीब डेढ़ माह से अवकाश पर थीं। पिछले सप्ताह ही जॉइन किया था। 12 अक्टूबर को लाड़ली शिक्षा पर्व के कार्यक्रम में भी शामिल हुई थीं। सहकर्मियों के मुताबिक बीमारी के चलते वे तनाव में थीं।