क्या शाहरुख खान ने पाकिस्तान टैंकर पीड़तों को दी थी 45 करोड़ की आर्थिक मदद?

नई दिल्ली: आपको याद होगा कुछ दिन पहले पाकिस्तान के बहावलपुर जिले में एक टैंकर में धमाका हुआ था। जिसमें 200 लोगों की मौत हो गई थी। सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि अभिनेता शाहरुख खान ने इस हादसे में पीड़ित लोगों को 45 करोड़ रुपये की मदद की है। मरने वाले ज्यादातर गरीब थे, लेकिन क्या वाकई शाहरुख खान ने इन गरीबों को 45 करोड़ की मदद की है? क्या है शाहरुख खान के पाकिस्तान प्रेम का वायरल सच?

बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख खान फिर से विवादों में घिर गए हैं। शाहरुख खान को लेकर एक मैसेज सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। वायरल मैसेज में दावा किया जा रहा है कि शाहरुख ने पाकिस्तान को 45 करोड़ रुपये की मदद की है।

लोगों का गुस्सा शाहरुख पर फूट रहा है। लोगों का कहना है कि शाहरुख ने कभी शहीदों और किसानों की तो मदद नहीं लेकिन पाकिस्तान के लिए शाहरुख के दिल में इतना प्रेम है कि उन्होंने पाकिस्तान गैस टैंकर हादसे में पीड़ित लोगों को 45 करोड़ की मदद कर दी। लोगों का कहना है कि देशद्रोही हैं। सवाल उठता है कि क्या शाहरुख ने वाकई पाकिस्तानियों की मदद की है?

हम आपको सच बताएं उससे पहले आप ये जान लीजिए, पाकिस्तान के बहावलपुर में 25 जून को लाहौर-करांची रोड पर तेल का टैंकर पलट गया, और तेल लीक होने लगा। लोग तेल लूटने के लिए उमड़ पड़। सड़क पर लोगों की भीड़ लग गई। लेकिन तभी किसी शख्स ने वहां जलती हुई सिगरेट फेंक दी। लोगों को बचने का मौका भी नहीं मिला और टैंकर फट गया। कई लोग तुरंत मर गए और कई लोगों ने अस्पताल में अपना दम तोड़ दिया। करीब 200 लोगों के मारे जाने की खबर है।

इंडिया टीवी ने इस वायरल मैसेज की पड़ताल की। हमारी संवाददाता शाहरुख के ऑफिस पहुंची। इस पड़ताल में हमें पता चला कि शाहरुख कई बार सरकार और महाराष्ट्र के गरीबों की मदद कर चुके हैं। लेकिन हमें ये जानना था कि क्या शाहरुख ने पाकिस्तानियों की मदद की है। इसके लिए हमने शाहरुख की मीडिया टीम से संपर्क किया। जिसके बाद हमें उनका एक ईमेल आया। ईमेल में हमें बताया गया कि शाहरुख कभी भी सामाजिक काम करते हैं तो उसका कभी मीडिया या सोशल मीडिया में नहीं करते हैं। शाहरुख की टीम ने हमें आगे बताया कि सोशल मीडिया में चल रही ये खबर पूरी तरह से बेबुनियाद है। शाहरुख ने पाकिस्तान में पीड़ित हुए इन लोगों की मदद के लिए पैसे नहीं भेजे हैं।