खुलासा: प्रेम प्रसंग सामने आने पर पत्नी ने प्रेमी संग की पति की हत्या

बिलासपुर।बिल्हा रेलवे स्टेशन के यार्ड पर मिली युवक की कटी हुई लाश का मामला हत्या का निकला। संदिग्ध हालत में पकड़े जाने पर महिला ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर पति पर जानलेवा हमला कर उसे रेल पटरी पर लिटाकर भाग निकले थे। जीआरपी ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।
– 25 अक्टूबर की रात करीब 3 बजे बिल्हा रेलवे स्टेशन मास्टर ने मोहभट्ठा व बिल्हा यार्ड के बीच एक युवक की मालगाड़ी से कटने की जीआरपी बिलासपुर को सूचना दी थी। दूसरे दिन सुबह जीआरपी मौके पर जाकर मरने वाले की पहचान घटनास्थल से 3 किलोमीटर दूर ग्राम उमरिया निवासी केजूराम राजपूत 40 वर्ष के रूप में की थी।
– केजूराम का शरीर दो टुकड़ों में बंट गया था। पंचनामा के दौरान केजूराम के सिर व गले पर चोट के निशान मिले थे। जीआरपी को हत्या का अंदेशा था। जीआरपी थाना प्रभारी एलएस राजपूत के अनुसार जांच शुरू हुई तो केजूराम के पिता अमृतलाल राजपूत ने अपने बेटे की हत्या की आशंका जताई। उसने संदेही के रूप में बिहारी लाल राजपूत का नाम भी लिया।
– जीआरपी ने बिहारी लाल को पकड़कर पूछताछ की तो उसने केजूराम की हत्या करना स्वीकार लिया। बिहारीलाल ने केजूराम की पत्नी संतोषी के साथ मिलकर उसकी हत्या की थी। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया। दोनों आरोपियों के बीच अवैध संबंध थे।
– केजूराम ने उन्हें संदिग्ध हालत में पकड़ लिया था। जीआरपी ने घटनास्थल पर जाकर सबूत इकट्ठा किया। दोनों के खिलाफ हत्या व साक्ष्य छिपाने की धारा के जुर्म दर्ज किया। उनके कब्जे से खून लगे कपड़े व कुल्हाड़ी जब्त की है।
पत्नी ने ईंट से मारा,आशिक ने कुल्हाड़ी से
– 25 अक्टूबर की रात को 11 बजे केजूराम की पत्नी घर से गायब थी। केजूराम उसे ढूंढने निकला। उसे वह घर से थोड़ी दूर सुरेश राजपूत के खेत में बिहारी लाल के साथ संदिग्ध हालत में मिली। केजूराम कुल्हाड़ी रखा था। वह आपा खो बैठा। वह दोनों से मारपीट करने लगा।
– इस बीच संतोषी ने पास पड़े ईंट से उसके सिर पर वार कर दिया। इधर बिहारी ने भी मौका पाकर केजूराम से कुल्हाड़ी छीन ली और उससे सिर व गर्दन पर ताबड़तोड़ वार कर दिया। केजूराम गिर पड़ा।
– दोनों उसे मरा समझकर स्कूटी में बिठाकर वहां से मोहभट्ठा रेलवे फाटक के करीब बिल्हा यार्ड लेकर आए और केजूराम को पटरी पर लिटा दिया। तब केजूराम की सांसें चल रही थी। ट्रेन आने पर उसका शरीर दो टुकड़ों में बंट गया।