गर्भवतियों को मोदी सरकार की सलाह- सेक्‍स-मीट से रहें दूर, रखें धार्मिक विचार

मोदी सरकार के मंत्रालय ने गर्भवती महिलाओं को कुछ सुझाव दिए हैं जिन पर विवाद हो सकता है. आयुष मंत्रालय ने कहा है कि गर्भधारण के बाद महिलाओं को सेक्‍स नहीं करना चाहिए. उन्हें मीट आदि मांसाहार से भी दूरी बनाए रखनी चाहिए. साथ ही  इस दरमियान मन में हमेशा धार्मिक विचार बनाए रखें. आयुष मंत्रालय ने मदर एंड चाइल्‍ड केयर नामक बुकलेट में ये सलाह दी है.
हिंदुस्‍तान टाइम्‍स की खबर के मुताबिक, आयुष राज्‍य मंत्री ने हाल में ही इस बुकलेट को रिलीज किया था. हालांकि डॉक्‍टर इस सलाह को बेकार बता रहे हैं.
डॉक्टर्स की क्या है राय?
अपोलो हेल्‍थकेयर ग्रुप की सीनियर गायनोकॉलिस्‍ट डॉक्‍टर मालविका सभरवाल कहती हैं कि अक्‍सर गर्भवती महिलाएं को प्रोटीन डेफिशिएंसी होती है. वे एनिमिक भी होती हैं. ऐसे में मीट उनके लिए प्रोटीन और आयरन का बेहतर स्‍त्रोत है.
वहीं, सेक्‍स पर विशेषज्ञों की राय है कि अगर प्रेगनेंसी नॉर्मल है तो ऐसे समय में सेक्‍स किए जाने से कोई परेशान नहीं होती.