गर्मी की मूंग के एक हजार रुपए तक गिरे भाव, फिर सरकार खरीदेगी

भोपाल। किसान संगठनों के गांव बंद आंदोलन की शुरुआत के साथ ही सरकार ने किसानों के लिए राहत का पिटारा खोलना शुरू कर दिया है। बाजार में गर्मी की मूंग के भाव 800 से लेकर 1000 रुपए प्रति क्विंटल तक कम चल रहे हैं। इसे देखते हुए प्राइस सपोर्ट स्कीम के तहत मंडियों में मूंग की खरीदी की जाएगी। यह 5 हजार 575 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से उन 12 जिलों में होगा, जहां गर्मी की मूंग का रकबा दो हजार हेक्टेयर या अधिक होगा।

प्रमुख सचिव कृषि डॉ.राजेश राजौरा ने बताया कि सिंचाई सुविधा बढ़ने के बाद से प्रदेश्ा में गर्मी की मूंग का रकबा तेजी से बढ़ रहा है। इस साल लगभग तीन लाख हेक्टेयर में मूंग की बोवनी की गई है। बाजार में मूंग के भाव प्रति क्विंटल 800 से लेकर 1000 रुपए तक कम चल रहे हैं। इसे देखते हुए सरकार ने निर्णय लिया है कि इस साल भी गर्मी की मूंग की मंडी और समितियों में खरीदी की जाएगी।

इसके लिए पंजीयन 6 जून से 20 जून तक होगा। यह पूरी तरह निशुल्क रहेगा और किसान को पंजीयन क्रमांक व पर्ची दी जाएगी। राजस्व विभाग 21 से 25 जून तक पंजीकृत किसानों के रकबे का सत्यापन करेगा। पंजीयन के वक्त किसान को रकबे का भू-अभिलेख, आधार कार्ड की प्रति, मोबाइल नंबर और बैंक खाते की जानकारी देनी होगी।

इन जिलों में होगी खरीदी

होशंगाबाद, सीहोर, रायसेन, नरसिंहपुर, जबलपुर, हरदा, विदिशा, गुना, देवास, इंदौर, धार और बालाघाट ।

स्टेट हैंगर में अफसरों के साथ बैठक

सूत्रों के मुताबिक मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने खंडवा जाने से पहले स्टेट हैंगर में कृषि सहित अन्य विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की। इस दौरान ही तय किया गया कि गर्मी की मूंग किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी जाएगी। बताया जा रहा है कि बैठक में चना, मसूर और सरसों की खरीदी को लेकर भी फीडबैक लिया गया।