गुजरात के डिप्टी CM नितिन पटेल की नाराजगी हुई दूर …

ताज़ा खबर के मुताबिक गुजरात के डिप्टी CM नितिन पटेल जी की नाराजगी दूर हो गयी है |उन्हें वित्तमंत्रालय भी दे दिया गया है |पुरानी सरकार में भी उनके पास यह पद था और एक बार फिर पुनः उन्हें यह पद दे दिया गया है |पिछली जानकारी के मुताबिक नितिन जी इसी वजह से नाराज थे और उन्होंने अपनी मिनिस्ट्रीज का चार्ज नहीं लिया था। उन्होंने इसे आत्मसम्मान ठेस बताया था और सरकार का कामकाज संभालने से इनकार कर दिया था। मन जा रहा है की भाजपा अध्यक्ष अमित शाह जी की नाराज उपमुख्यमंत्री नितिन जी पटेल से बातचीत के बाद गुजरात सरकार में चल रहा संकट समाप्त हो गया।

डिप्टी सीएम ने अपना पदभार संभाल लिया है। कैबिनेट में अपनी पसंद का मंत्रालय नहीं मिलने के कारण नितिन पटेल कार्यभार संभालने में देरी कर रहे थे| बता दे की पूर्ववर्ती सरकार में वित्त और शहरी विकास जैसे महत्वपूर्ण मंत्रालयों का कार्यभार संभालने वाले पटेल को इस बार सड़क और भवन, स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा, नर्मदा, कल्पसर एवं अन्य परियोना विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। इस बार वित्त विभाग सौरभ पटेल को दिया गया था जबकि मुख्यमंत्री रूपाणी ने शहरी विकास मंत्रालय का कार्यभार अपने पास रखा है। उन्होंने इस से पूर्व वित्तमंत्रालय का न मिलना ‘आत्म सम्मान’ का मामला बताया था।देर शाम नितिन पटेल को वित्त मंत्रालय का प्रभार सौंपा गया।

पटेल ने कहा था, ‘‘शाह जी ने मुझसे मेरे विभागों का कार्यभार संभालने को कहा है, ऐसे में मैं  कार्यभार संभाल लूंगा। मुख्यमंत्री विजय रूपाणी जी   राज्यपाल ओपी कोहली से मुलाकात करेंगे और मुझे आवंटित नए विभाग के बारे में पत्र सौपेंगे।’’ पूर्ववर्ती सरकार में भी उनके पास ये मंत्रालय था।182 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के 99 और कांग्रेस के 77 विधायक हैं।