गूगल मैप से सर्च करता था पॉश इलाके, फ्लाइट से जाकर लूट लेता था घर

चेन्नई। चोर कितने हाइटेक और प्रोफेशनल हो सकते हैं, इस बात का अंदाजा इस घटना से लगाया जा सकता है। एक चोर ने उन अमीर लोगों को गूगल मैप पर ढूंढा जो कि पॉश इलाके में रह रहे थे और उनके घर लूट की। पुलिस ने लंबे सर्च ऑपरेशन के बाद आखिरकार उसे हैदराबाद में गिरफ्तार कर लिया गया। यह घटना तब सामने आई जब चेन्नई में अपोलो अस्पताल में काम कर रहे नुंगमबक्कम के रहने वाले एक डॉक्टर के साथ लूट हुई। यह चोरी पिछले महीने हुई थी और चोर ने कोई सबूत भी पीछे नहीं छोड़ा था। पुलिस चोर की पहचान नहीं कर पा रही थी। हालांकि चेन्नई के अन्य पॉश इलाकों जैसे वल्लुवार कोट्टम में वैसी ही घटनाएं हुई थी जहां काफी प्रभावशाली लोग रहते हैं और अपराधी ने पुलिस को कंफ्यूज कर रखा था।

इसी बीच आंध्र प्रदेश के रहने वाले एक चोर साथिया रेड्डी को तेलंगाना पुलिस ने एक अन्य चोरी के मामले में गिरफ्तार किया। जांच के दौरान हैदराबाद पुलिस चौंक गई जब पता चला कि नुंगमबक्कम और वल्लुवार कोट्टम लूट के मामले में भी वह शामिल था। इस चोर से आगे पूछताछ कि तो उसके काम करने का ढंग जानकर हैरान रह गई।

ये लुटेरा सबसे पहले चेन्नई में गूगल मैप्स के जरिए पॉश इलाका सर्च करता था। उसके बाद, चेन्नई की फ्लाइट लेकर उस टारगेट एरिया का दौरा करता। उसके बाद उस घर में वारदात करता जहां या तो लॉक लगा हो या फिर रहवासी आधे से ज्यादा समय अपने काम के कारण घर से बाहर रहते हों।

इसके बाद, रेड्डी अपने प्लान के मुताबिक लूट को अंजाम देता। वह बंद खिड़कियां और दरवाजा खोलने के लिए कुछ औजारों का इस्तेमाल करता और इस बात का ख्याल रखता कि उसने मास्क और ग्लब्स पहने हों। इसकी वजह से पुलिस को कोई फिंगरप्रिंट हासिल नहीं होते और ना ही सीसीटीवी में चेहरा नजर आता। लूट का सफलतापूर्वक अंजाम देने के बाद वह लूटे हुए सामान के साथ अपने गृहनगर ट्रेन से पहुंच जाता।