‘गे’ बेटे को समलैंगिकता से दूर करने के लिए मां ने किया बलात्कार

बैंगलुरू। मोरल पुलिसिंग (अच्छे ढंग से नुकसान समझाते हुए सर्तक करना) के कई मामले तो आपने सुने और देखे भी होंगे लेकिन सबक सिखाने का एक अजीबो-गरीब तरीके से आईए आपको वाकिफ कराते हैं। देश का आईटी हब कहे जाने वाले बैंगलुरू में एक महिला ने अपने ही बेटे से बलात्कार किया। उस महिला ने ऐसा इसलिए किया क्योंकि उसका बेटा गे (समलैंगिक) है और वो चाहती है कि वो समलैंगिकता से दूर हो जाए।

घटना का खुलासा तब हुआ जब जब दीप्ति ताडंकी नाम की एक महिला ने ‘करेक्टिव सेक्स’ पर डॉक्यूमेंट्री के लिए रिसर्च शुरू की। इस रिसर्च के दौरान एक और चौकाने वाली घटना सामने आई। एक युवक ने अपनी लेस्बियन बहन को सबक सिखाने के लिए उसके साथ बलात्कार किया।
उल्लेखनीय है कि ऐसे कई रिपोर्ट सामने आए हैं जिनमें लड़कियों के माता-पिता उनकी समलैंगिकता दूर करने के लिए भाई या कजन से उनका जिस्मानी रिश्ता कायम करवा रहे है। इसे एक शब्द दिया गया है जिसे ‘करेक्टिव रेप’ यानी कि सुधारात्मक बलात्कार’ कहा जा रहा है।

Leave a Reply