गोताखोरों का सहारा ले रहा है पाकिस्तान भारत में नशे का कारोबार बढ़ाने के लिए

सरहद पार से बढ़ रहा है नशे का कारोबार। पाकिस्तान भारत में नशे के कारोबार को बढ़ाने के लिए प्रशिक्षित गोताखोरों की मदद ले रहा है। बॉर्डर पर बीएसएफ की बढ़ाई गई कड़ी सुरक्षा के बाद पाकिस्तान  भारत में नशे को बढ़ावा देने के लिए नदियों का सहारा ले रहा है।खुफिया जानकारी के अनुसार अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पर बीएसएफ ने हाल के दिनों में ड्रग्स की रोकथाम के लिए सीमा पर बड़ी संख्या में जवान के साथ मानव रहित हवाई वाहन, लेजर की दीवारों और थर्मल इमेजर्स पेश किए थे जिसके बाद पाकिस्तान, पंजाब के फिरोजपुर, गुरदासपुर और अमृतसर में नदियों के सहारे नशा पहुंचा रहा है। भारत और पाक का बॉर्डर 553 किलोमीटर है, जिसमें 518 भूमि और 33 किलोमीटर नदियां हैं। बीएसएफ ने बॉर्डर पर 729 किलो करोड़ों रुपए का नशा बरामद किया है। जिसमें सबसे ज्यादा 340 किलो  फिरोजपुर सेक्टर से बरामद किया गया है। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक इंटेलीजेंस  अधिकारियों ने बताया कि सतलज और रावी नदी से भारत में आने वाले गोताखोर पूरी तरह से एक्विप्ड हैं। गोताखोर ट्रांस बॉर्डर बातचीत के लिए व्हाट्स-एप का सहारा ले रहे हैं।