गोल्डन कलर की 150 बाइक खंगाली, तब पकड़ में आए लुटेरे

भानपुर ब्रिज के पास एक्सीडेंट का आरोप लगाकर दो लोगों को लूटने वाले आरोपियों में से चार को पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। जबकि एक फरार हो गया। पुलिस का कहना है कि आरोपी अयोध्या बायपास स्थित तिरूपति अभिनव होम्स में डकैती डालने की योजना बना रहे थे।

लूट की वारदात में इस्तेमाल की गई गोल्डन कलर की एवेंजर बाइक के सुराग की बदौलत पुलिस आरोपियों तक पहुंच पाई। इसके लिए पुलिस ने शहरभर की 150 एवेंजर बाइक और उनके मालिकों की जानकारी खंगाली। आरोपियों से दो बाइक, एक देशी रिवॉल्वर, दो जिंदा कारतूस, धारदार हथियार, टॉर्च और मिर्च पाउडर बरामद किया गया है।

छोला मंदिर टीआई पंकज द्विवेदी के अनुसार बुधवार को मुखबिर से सूचना मिली थी कि अयोध्या बायपास के आगे माहोली गांव के पास अंधेरे में दो बाइक पर पांच युवक देखे गए हैं। उनके पास पूर्व में लूट में उपयोग की गई गोल्डन कलर की एवेंजर और यामाहा बाइक हैं।

तुरंत एसआई एसपीएस चंदेल के नेतृत्व में एक टीम को मौके पर रवाना किया गया। जहां घेराबंदी कर चार चार युवकों को हिरासत में लिया गया। हालांकि उनका एक साथी अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गया। आरोपियों ने खुलासा किया कि वे अयोध्या नगर स्थित तिरूपति अभिनव होम्स के एक घर में डकैती डालने वाले थे।

दो लोगों को लूटा थाः आरोपियों ने दस दिन पहले बैरसिया के ग्राम रूनाहा स्थित एसबीआई बैंक के सीनियर मैनेजर प्रशांत चित्रे से भानपुर ब्रिज के पास सात हजार रुपए लूटे थे। आरोपियों ने उन्हें एक्सीडेंट का आरोप लगाकर रोका था। इसके बाद थ्री ईएमई सेंटर के क्लर्क हेमंत कुमरे को भी इन्हीं आरोपियों ने एक्सीडेंट करने की बात कहकर रोका था। आरोपी उनसे 29 हजार व एटीएम कार्ड लूटकर फरार हो गए थे। वारदात में पुलिस ने एक आरोपी की एवेंजर बाइक बरामद की थी।

पुलिस ऐसे पहुंची आरोपियों तक

टीआई ने आरटीओ की मदद से शहरभर की 150 गोल्डन कलर एवेंजर बाइक के मालिकों की तलाश की थी। पता चला कि बाइक का मालिक शादाब तीन दिनों से गायब है। पुलिस ने मुखबिर तंत्र को सक्रिय किया और शादाब की लोकेशन माहोली गांव के पास मिल गई। यहां से पुलिस ने अटल नेहरू नगर भानपुर निवासी शादाब पिता नबाव खान (21), मो. सैफ पिता मो. जावेद खान (19) मुमताज पिता बली मोहम्मद उर्फं बलदार खां (21) और साजिद पिता लाल खां (20) को गिरफ्तार किया। आरोपियों का पांचवां साथी सरफराज पिता बन्ने खां निवासी कल्याण नगर फरार हो गया। आरोपियों से लूटी गई नकदी में सिर्फ 27 हजार रुपए बरामद किए गए हैं।

फरार आरोपी सरफराज सबसे कुख्यातः लूट के गिरोह का सरगना शादाब है। उस पर तीन थानों में आपराधिक रिकॉर्ड है। इसी तरह से सैफ का भी आपराधिक रिकार्ड है। फरार आरोपी सरफराज बेहद शातिर है। विभिन्न थानों में उसके खिलाफ दर्जनभर मामले दर्ज हैं। वह 2011 से अपराध की दुनिया में सक्रिय है।