घर में मकड़ी का जाला माना जाता है अशुभ, होता है वास्तु दोष…..

अक्सर हम साफ सफाई पर विशष ध्यान देते है पर कुछ बाटे ऐसी होती है जिनपर हमारा ध्यान कभी कभी ही जाता है तो चलिए आज आपको बताते है ऐसी ही एक खास बात |क्या आपको पता है की मकड़ी का जला भी वास्तु दोष का एक कारण होता है |घर सुंदर व स्वच्छ दिखे, इसके लिए हम घर की साफ-सफाई की ओर ध्यान तो जरूर देते हैं, लेकिन घर की छत और कोनों को ज्यादातर नजरअंदाज कर देते हैं। छत या कोने, मकड़ियों के रहने व जाला बुनने के पसंदीदा स्‍थान होते हैं। अक्सर हम जाला हटाने में आलस कर जाते हैं, जिस कारण घर में वास्तुदोष उत्पन्न होता है।
लोगों को यह कहते सुना जाता है कि हम मेहनत तो बहुत करते हैं, लेकिन उसका फल नहीं मिलता। कमाया हुआ धन बचता ही नहीं है। इन परेशानियों का कारण आपके घर में ही मौजूद हो सकता है। इस ओर हम कभी ध्यान ही नहीं देते। देखा जाता है कि हम धन तो जोड़ते हैं, लेकिन जोड़ा गया धन व्यर्थ के कामों में खर्च होता रहता है। लाख कोशिश के बाद भी धन संचित नहीं हो पाता। इसकी वजह भी मकड़ी का जाला हो सकती है। यह कार्यों में असफलता, बनते काम बिगड़ने, स्वास्‍थ्य में उतार-चढ़ाव बने रहने का भी एक प्रमुख कारण हो सकता है। यदि घर में मकड़ी का जाला लगा हो, तो उसे तुरंत हटा दें। यह घर के बच्चों के स्वास्‍थ्य पर भी असर डालता है
मकड़ी के जालों की संरचना कुछ ऐसी होती है कि उसमें नकारात्मक ऊर्जा एकत्रित हो जाती है। घर के जिस भी कोने में मकड़ी के जाले होते हैं, वह कोना या हिस्सा नकारात्मक ऊर्जा से भर जाता है। इस कारण घर में कलह, बीमारियां व अन्य कई समस्याएं पैदा होती हैं। मकड़ी के एक जाले में बीमारी फैलाने वाले असंख्य सूक्ष्मजीव रहते हैं, जो कि कई तरह की बीमारियों को न्यौता देते हैं। मकड़ी का जाला घर में होने से घर की सुख-समृद्धि में कमी आती है। यह घर के माहौल को नकारात्मक बनाते है। धार्मिक मान्यतानुसार, घर में लगा मकड़ी का जाला अशुभता की निशानी है। वास्तु शास्‍त्र की मानें, तो मकड़ी का जाला घर में वास्तुदोष उत्पन्न करता है। ज्योतिषशास्‍त्र कहता है कि यह घर में नकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाने के साथ-साथ बीमारियों को भी न्यौता देता है। घर के सदस्यो में हमेशा आलस, स्वभाव में चिड़चिड़ापन, नकारात्मक विचार आने के पीछे भी यह वजह हो सकता है