चेन्‍नई: बिजली-बसें बहाल, रेनवे भी हो जाएगा चालू

चेन्‍नई। चेन्नई ने शनिवार को राहत की सांस ली है। भारी बारिश के चलते बंद एयरपोर्ट आज से काम करने लगेगा। वहीं सरकार ने अधिकांंश बसों के उतरने का दावा किया है। लगभग पूरे चेन्नई में बिजली बहाल हो गई है।

इस बीच, बीती रात रूक-रूक कर बारिश होती रही। 24 घंटे पहले बारिश थमने से लोगों को थोड़ी राहत मिल रही थी। बाढ़ पीड़ित नागरिकों और बचाव एजेंसियों अपने कार्य में सक्रिय हो गए थे। वहीं फिर बरसात होने से लोगों की चिंता बढ़ गई है।

चेन्नई के विभिन्न हिस्सों में जलभराव की स्थिति बनी है। भारी बारिश के कारण जल स्तर कोयाम्बेडु पुल पर खतरे के निशान को पार कर गया है। बाढ़ का पानी लोगों के आवासों में प्रवेश करा है। बारिश चेन्नई के रायपेट्टा, माउंट रोड, ताम्बरम, और चेंगलपट्टू में शुरू है।

मौसम विभाग ने वापस ली चेतावनी

मौसम विभाग के डायरेक्टर बीपी यादव ने बताया कि चेन्नई के पास बना कम दबाव का क्षेत्र अब दक्षिण की ओर बढ़ रहा है। इसलिए भारी बारिश नहीं होगी। पहले यह ठहरा हुआ था, जिसकी वजह से केंद्रीय तमिलनाडु सहित चेन्नई में भारी बारिश की चेतावनी दी गई थी। लेकिन दोपहर बाद रोयापेटा, माउंट रोड, तांबरम और चेंगलापट्टु जैसे इलाकों में फिर भारी बारिश होने लगी।

बारिश थमने की वजह से राहत और बचाव कार्यों में तेजी अाई थी साथ ही कुछ इलाकों में जलस्‍तर कम होने की सूचना भी थी। बाढ़ की स्थिति को देखते हुए अमेरिका ने भी मदद के लिए हाथ बढ़ाया है।

इससे पहले शु्क्रवार सुबह तक सेना और एनडीआरएफ ने अब तक 9000 लोगों को बचा लिया था। पीएम मोदी ने गुरुवार को चेन्‍नई का हवाई दौरा किया और इसके साथ राज्‍य को 1000 करोड़ रुपये की अतिरिक्‍त मदद का ऐलान किया। केंद्र इससे पहले 940 करोड़ रुपये की मदद दे चुका है।

100 साल के बाद भयंकर बाढ़ से जूझ रहे चेन्नई और उसके निकटवर्ती बाढ़ग्रस्त कांचीपुरम और तिरुवल्लूर जिलों के हवाई सर्वेक्षण के बाद गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि संकट की इस घड़ी में पूरा देश तमिलनाडु के साथ खड़ा है।

48 घंटे में और होगी मूसलाधार बारिश

भारी वर्षा से भीषण बाढ़ की चपेट में आए बाढ़ग्रस्त तमिलनाडु के हालात अब भी गंभीर हैं। पूर्वोत्तर के मानसून ने सर्वाधिक तबाही तटवर्ती कुड्डालोर जिले में मचाई है। चेन्नई के अलावा, विल्लुपुरम, कन्याकुमारी और पुड्डुचेरी में भी हालात बेहद खराब हैं।

मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे में और मूसलाधार बारिश की चेतावनी जारी की है। जलमग्न निचली बस्तियों में सेना, नौसेना व एनडीआरएफ की टीमें राहत पहुंचाने में युद्धस्तर पर लगी हैं। पीड़ितों को राहत पहुंचाने में भी भारी परेशानी हो रही है। अब भी सड़कों पर 4 से 5 फीट तक पानी है।

अत्यधिक प्रभावित इलाकों में पानी आठ से दस फीट तक पहुंच गया। फिर भी अब तक 50 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है। तमिलनाडु में मौत का आंकड़ा बढ़कर 269 तक पहुंच गया है।

चेन्नई के हालात पर दोनों सदनों में चर्चा

गुरुवार को दोनों सदनों में चेन्नई के हालात पर चर्चा के बाद केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा को बताया कि एनडीआरएफ से लेकर थल सेना, वायुसेना, नौसेना और कोस्ट गार्ड राहत व बचाव कार्यों में जुटे हैं। उन्होंने बताया कि किस तरह चेन्नई में ट्रेन और हवाई सेवाएं ठप हो गई हैं।

रेल, वायु और सड़क मार्ग सेवाएं बाधित होने से चेन्नई बाकी देश से कट गया है। फिर भी गुरुवार को दो हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। चेन्नई हवाई अड्डे पर फंसे1500 लोगों में से 1200 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है।

गृहमंत्री ने बताया कि पिछले हफ्ते जारी 940 करोड़ रुपये की केंद्रीय सहायता के अलावा राज्य आपदा बल कोष के तहत 23 नवंबर को 133 करोड़ रुपये जारी किए गए थे। तमिलनाडु सरकार ने 24 नवंबर को 8481 करोड़ रुपये की केंद्रीय सहायता की मांग की थी। इसके बाद 25 से 29 नवंबर तक केंद्र से अंतर मंत्रिमंडलीय दल ने राज्य का दौरा किया।

राजनाथ ने बताया कि उन्होंने खुद भी मुख्यमंत्री जयललिता और मुख्य सचिव से बात की है और तमिलनाडु की हरसंभव सहायता के लिए तैयार हैं।

Leave a Reply