छत्तीसगढ़ के ढाई लाख कर्मचारियों को अप्रैल से 7वां वेतनमान

सरकार ने नवरात्र में प्रदेश के दो लाख साठ हजार कर्मचारियों को बड़ी सौगात दी है। विधानसभा में विनियोग विधेयक पर जवाब देते हुए मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कर्मचारियों को सातवां वेतनमान देने की घोषणा की। इस घोषणा के बाद कर्मचारियों के बेसिक सेलरी में ढाई गुना बढ़ोत्तरी हो जाएगी। नया वेतनमान एक अप्रैल से लागू हो जाएगा। इससे सरकार पर 37 सौ करोड़ रुपए सालाना अतिरिक्त वित्तीय बोझ पड़ेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार पर जितना भी बोझ आएगा, वहन कर लेंगे।

‘नईदुनिया” ने सबसे पहले बताया था कि सरकार शीघ्र ही सातवां वेतनमान देने की घोषणा कर सकती है। 18 मार्च के अंक में प्रकाशित खबर में नईदुनिया ने बताया था कि मध्यप्रदेश सरकार ने 7वां वेतनमान देने की घोषणा कर दी है, इसलिए छत्तीसगढ़ सरकार पर भी दबाव बढ़ गया हैै। मुख्यमंत्री ने विधायक जनसंपर्क निधि 4 से बढ़ाकर 6 लाख रुपए करने का भी एलान किया।

मुख्यमंत्री ने वन कर्मियों के लिए भी पुरस्कार की घोषणा की। यह पुरस्कार जंगलों की रक्षा में प्राणों की आहुति देने वाले वन कर्मी दौलतराम लदेर की स्मृति में हर साल वनों, वन्यप्राणियों और वनोपजों की सुरक्षा, उनके संरक्षण और संवर्धन के लिए सर्वश्रेष्ठ कार्य करने वाले एक वन कर्मचारी को दिया जाएगा।

पुरस्कार के रूप में एक लाख रुपए नकद और प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा। इस साल का पुरस्कार दिवंगत लदेर की पत्नी श्रीमती पुष्पा लदेर को दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने प्राथमिक वनोपज सहकारी समितियों के प्रबंधकों के पारिश्रमिक में 25 फीसदी वृद्धि करने की भी घोषणा की। अब उन्हें 10 के स्थान पर 12 हजार 500 स्र्पए मानदेय दिया जाएगा। इसके साथ ही प्रबंधक हर महीने 500-500 रुपए जमा करेंगे। उन्हें बीमा योजना का भी लाभ मिलेगा।

ऐसे समझ सकते हैं कितना बढ़ेगा वेतन

वेतमान के लिए मल्टीप्लाइंग फैक्टर लागू किया गया है। इसमें बेसिक सेलरी और ग्रेड पे को जोड़कर बेसिक बनाया गया है। इस बेसिक में प्रथम श्रेणी के अधिकारियों को 2.8 प्रतिशत, द्वितीय श्रेणी का 2.67 प्रतिशत, तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों का 2.5 प्रतिशत बढ़ोत्तरी की संभावना है।

प्रथम श्रेणी अधिकारी

बेसिक 49740 और ग्रेड पे 8700 को जोड़ने पर 58440 स्र्पए नया बेसिक बनेगा।

नए बेसिक को 2.8 गुना करने से बेसिक तनख्वाह 163632 स्र्पए हो जाएगी।

द्वितीय श्रेणी अधिकारी

बेसिक 20520 और ग्रेड पे 6600 को जोड़ने पर 27120 स्र्पए नया बेसिक बनेगा।

नए बेसिक को 2.67 गुना करने से बेसिक तनख्वाह 74039 स्र्पए हो जाएगी।

तृतीय और चतुर्थ श्रेणी अधिकारी

बेसिक 5200 और ग्रेड पे 1800 को जोड़ने पर 7000 स्र्पए नया बेसिक बनेगा।

नए बेसिक को 2.5 गुना करने से बेसिक तनख्वाह 17500 स्र्पए हो जाएगी।

पेंशनर को भी मिलेगा लाभ

सरकारी सूत्रों ने बताया कि सातवां वेतनमान का फायदा पेंशनरों को भी मिलेगा। पेंशन की राशि और सातवें वेतनमान की गणना कर इसका निर्धारण किया जाएगा। निगम, मंडल, प्राधिकरण इसके दायरे से बाहर हैं।

Leave a Reply