जागो जालोर! मांगो महाराणा प्रताप का खोया नाम

जालोर

मेवाड़ के शूरवीर राणा प्रताप के नाम से दशकों पहले जिला मुख्यालय पर शुरू हुआ महाराणा प्रताप प्राथमिक विद्यालय अपना नाम खो चुका है।
इतिहास में प्रताप के ननिहाल पक्ष के जालोर से संबंधित बताए जाने के बावजूद इस तरह का कुठाराघात महान स्वातंत्र्य वीर के नाम के साथ किया गया है। परन्तु जिम्मेदार है कि जागने का नाम नहीं ले रहे।
कभी महाराणा प्रताप विद्यालय रहा यह स्कूल समय के साथ क्रमोन्नत होकर बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय बन चुका है। महाराणा प्रताप का नाम एक पत्थर पर लिखा है, लेकिन स्कूल के आगे से हट गया।
इस विद्यालय में पढ़कर कई शहरवासी बड़े मुकाम तक पहुंचे हैं। प्रताप के नाम से विद्यालय चलने के कारण यहां स्थित चौक का नाम भी प्रताप चौक के नाम से जाना जाता है।
शहर की युवा पीढ़ी को प्रताप चौक के बारे में जानकारी तो है, लेकिन महाराणा प्रताप राजकीय प्राथमिक स्कूल के बारे में पता नहीं है।

Leave a Reply