जीएसटी ने सभी वर्गों को बराबरी पर लाकर खड़ा कर दिया- केन्द्रीय वित्त मंत्री श्री गोयल

केंद्रीय वित्त मंत्री श्री पीयूष गोयल ने कहा है कि जीएसटी ने सभी वर्गों को बराबरी पर लाकर खड़ा कर दिया है। जीएसटी नागरिकों की गरिमा बढ़ाने वाली व्यवस्था साबित हुई है। उन्होंने व्यापारिक समुदाय से आग्रह किया कि वे टैक्स की चोरी करने वालों का पर्दाफ़ाश करें। उपभोक्ताओं को अनिवार्य रूप से बिल दें। श्री गोयल आज यहां व्यापारिक समुदाय से संवाद कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने नया भारत बनाने का संकल्प लिया है। संगठित व्यापार के माध्यम से प्रधानमंत्री के सपने को साकार करने में अपना सहयोग दें। इस अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, वित्त मंत्री श्री जयंत मलैया, राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता, विभिन्न व्यापारी संघो के प्रतिनिधि उपस्थित थे। मध्यप्रदेश की सराहना जीएसटी लागू करने में मध्यप्रदेश की सराहना करते हुए उन्होने कहा कि जीएसटी लागू करने में मध्यप्रदेश ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और व्यापार-मित्र व्यवस्थाएं स्थापित की हैं। श्री गोयल ने कहा कि एक साल के भीतर जीएसटी से जुड़े ज्यादातर मुद्दों का समाधान हो गया है। उन्होंने कहा कि एक साल में जीएसटी के संबंध में व्यापारिक समुदाय में जितनी स्पष्टता आई है वह भी अपने आप में उपलब्धि है। पहले भ्रम की स्थिति थी। श्री गोयल ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और तत्कालीन वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली ने गंभीरता से हर पहलू पर विचार -विमर्श कर रात दिन मेहनत कर साहस के साथ से लागू करवाने का काम किया था। इसे लागू करने में विभिन्न विचारधाराओं, राजनीतिक दलों की सहमति और व्यापार जगत के सुझावों को शामिल किया गया था। यह भारत के भविष्य के लिये क्रांतिकारी कदम साबित होगा । उन्होंने कहा कि जीएसटी की सफलता और व्यापारिक समुदाय और उपभोक्ता दोनों वर्गों के साझा सहयोग का परिणाम है। जीएसटी लागू करने के संबंध में देश में पिछले कई वर्षों से विचार-विमर्श चल रहा था लेकिन भ्रम की स्थिति ज्यादा थी। आज जीएसटी के संबंध में स्पष्टता है । उन्होंने कहा कि एक साल की शुरुआती सफलता के बाद अब जीएसटी से होने वाले लाभ लेने का समय आ रहा है। व्यापारियों द्वारा दिये सुझावों के संबंध में श्री गोयल ने कहा कि इन पर खुले दिमाग से विचार किया जायेगा।