जैसे एक करोड़ लोग टेंट में रह रहे, वैसे ही अयोध्या में टेंट में हैं हमारे राम : तोगड़िया

भोपाल.विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने राममंदिर निर्माण में हो रही देरी को लेकर फिर कटाक्ष किया। बजरंग दल के राष्ट्रीय अधिवेशन के समापन पर तोगड़िया ने कहा कि देश में जिस तरह एक करोड़ लोग टेंट में रह रहे हैं, ठीक उसी तरह अयोध्या में हमारे रामलला भी टेंट में हैं। उन्हें मंदिर में विराजना है। अंग्रेज और मुगलों के शासनकाल में भी हम राममंदिर नहीं बना पाए थे, अब ऐसा नहीं होगा। जब तक राममंदिर नहीं बनेगा, तब तक किसी भी हिंदू का कोई स्वाभिमान नहीं है। छोला दशहरा मैदान पर हुई सभा में तोगड़िया ने समसामयिक मुद्दों को भी छेड़ा।
उन्होंने कहा कि आज भी देश में 19 करोड़ लोग रात में भूखे सोते हैं। दस करोड़ बेरोजगार हैं। देश-प्रदेश में किसानों की स्थिति कुछ ठीक नहीं है। हाल ही में मैं दौरा करते हुए होशंगाबाद पहुंचा। वहां एक किसान की बिजली सिर्फ इसलिए काट दी गई कि बिल के 2000 रुपए भरने के लिए उसके पास नहीं थे। अब वह न अब सिंचाई कर सकता है और न ही खेती। यही हालत देश के किसानों की भी है। करीब साढ़े तीन लाख किसानों ने सिर्फ कर्ज के कारण देश में आत्महत्या की है।
कार्यक्रम में दक्षिण क्षेत्र के समन्वयक व केरल के सूर्या ने कहा कि पहले हमारा क्षेत्र भगवान की भूमि कहलाता था, अब वह डेविल्स (राक्षस) लैंड हो गया है। इसे सभी को समझना होगा। ऐसा क्यों हो रहा है? बंगाल से अधिवेशन में आए सोना दास ने बताया कि पश्चिम बंगाल में भारी संख्या में बांग्लादेशी घुसपैठिये आ गए हैं। यही हाल रोहिंग्या मुसलमानों का भी है। ये भारत की आंतरिक सुरक्षा के लिए खतरा हैं। इससे आने वाले समय में दिक्कतें पैदा होंगी।
इससे पूर्व अधिवेशन में तीन प्रस्ताव पास किए गए। ये प्रस्ताव राममंदिर निर्माण, गौरक्षा और देश की आंतरिक सुरक्षा से जुड़े थे। तोगड़िया ने युवाओं से आह्वान किया कि वे देश की तरक्की में न केवल भागीदार बनें, बल्कि धर्म और संस्कृति की रक्षा में भी सक्रिय हों। यही हमारे देश की पहचान हैं।
जीएसटी के लिए रात 12 बजे ऐलान होता है तो गोहत्या पर सख्ती के लिए क्यों नहीं?
– गोहत्या कर लोग हिंदुओं का अपमान कर रहे हैं। गाय की हत्या देश के प्रशासन की विफलता है। हम किसी की सब्सिडी खत्म करने की मांग नहीं कर रहे, गोरक्षा मांग रहे हैं। जब जीएसटी के लिए रात बारह बजे ऐलान होता है तो गाय का कानून सख्ती से लागू करने के लिए क्यों नहीं?
– इस भारत देश का हिंदू सुरक्षा चाहता है। क्या बंगाल पाकिस्तान बन गया है।