टीएंडसीपी की निलंबित उपसंचालक अनिता कुरोठे और पति पर ईडी का शिकंजा

टीएंडसीपी की निलंबित उपसंचालक अनिता कुरोठे और उनके पति जगदीश कुरोठे की संपत्तियों की जांच प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) भी करेगा। लोकायुक्त की तीन टीमों ने 12 सितंबर को कुरोठे के शहनाई रेसीडेंसी स्थित फ्लैट के साथ तीन जगह एक साथ कार्रवाई की थी। अब तक जांच में कुरोठे दंपती के पास 18 से 20 करोड़ रुपए की संपत्ति का खुलासा हो चुका है।

जगदीश कुरोठे टीएंडसीपी में स्टेनोग्राफर थे। 2007 में उन्होंने इस्तीफा देकर रीयल एस्टेट का कामकाज शुरू कर दिया था। लोकायुक्त जांच में ये भी पता चला कि कुरोठे दंपती के पास जो संपत्तियां मिली हैं, उनमें से ज्यादातर जगदीश के नाम है। लोकायुक्त केस में पति की जांच कर रही है।

करोड़ों की संपत्ति का पता चलने के बाद मामले में ईडी भी उतर आया है। लोकायुक्त एसपी दिलीप सोनी ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि ईडी ने पूरे मामले की जानकारी मांगी थी, जो दे दी है। उम्मीद है जल्दी ही ईडी जांच शुरू करेगा।

मास्टर प्लान में छेड़छाड़ कर पास किए नक्शे

लोकायुक्त की कार्रवाई के वक्त कुरोठे टीएंडसीपी के देवास कार्यालय में उपसंचालक थी। 11 महीने पहले ही उन्हें इंदौर से वहां भेजा गया था। सोनी के मुताबिक जांच में पता चला कि पोस्टिंग के दौरान कुरोठे ने देवास में भी कुछ संपत्तियां खरीदी हैं।

ये पता भी चला कि उन्होंने वहां मास्टर प्लान से छेड़छाड़ कर कुछ नक्शे पास किए हैं। अब लोकायुक्त देवास की संपत्तियों की जानकारी जुटा रहा है। जो नक्शे कुरोठे के कार्यकाल में पास हुए, उनकी जांच कर पता लगाया जा रहा है कि कुरोठे ने इनमें कैसे और क्या फायदा लिया।