डायबिटीज के मरीज बिंदास होकर खाएं अंडे लेकिन इस मात्रा से ज्यादा नहीं

नई दिल्ली: मधुमेह (डायबिटीज) के मरीज अब रोजाना बेहिचक अंडे खा सकते हैं और ऐसा करने में उन्हें कोई नुकसान नहीं होने वाला है. एक नए रिसर्च में पता चला है कि हफ्ते में 12 अंडे तक खाने से टाइप टू डायबिटीज वाले मरीजों को दिल की बीमारियों का कोई खतरा नहीं है. दरअसल, अंडों में कोलेस्टेरोल का स्तर ज्यादा पाया जाता है, जिसकी वजह से डायबिटीज के मरीजों को आम तौर पर अंडे से बचने की सलाह दी जाती है.

अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लीनिकल न्यूट्रीशन में छपे एक शोध के जरिए बताया गया है कि अंडों का खून के कोलेस्टेरोल के स्तर पर कोई असर नहीं पड़ता है.

इस शोध के सह लेखक और सिडनी विश्वविद्यालय के निकोलस फुलर ने कहा, “डायबिटीज की पूर्व अवस्था यानी टाइप-2 डायबिटीज के मरीजों के लिए अंडे खाने के सुरक्षित स्तर के बारे में सलाह में मतभेद के बावजूद हमारा शोध बताता है कि अगर अंडे आपके खानपान की शैली का हिस्सा हैं, तो इन्हें खाने से परहेज मत करिए.”

उन्होंने कहा कि इस शोध में फैट से भरे प्रोडक्ट जैसे मक्खन के स्थान पर एवोकेडो और आलिव ऑयल अपनाने की सलाह दी गई है.

उन्होंने कहा कि अंडे प्रोटीन और सूक्ष्म पोषक तत्वों को अच्छा सोर्स हैं और इनके खाने से अनेक फायदे होते हैं, जो आंखों तथा दिल की सेहत के लिए अच्छे तो हैं ही, ये रक्त वाहिकाओं को स्वस्थ रखने में भी मददगार हैं और प्रेग्नेंसी में इन्हें खाने की सलाह दी जाती है