डॉक्टर की एक गलती से सात माह की बच्ची हो गई अनाथ

महिला की मौत के मामले में सेक्टर- 9 अस्पताल के डॉक्टर पर उपचार में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया गया है। मामले की शिकायत बीएसपी सीईओ सहित जिला प्रशासन के अधिकारियों से करने की बात कही गई है।

भिलाई निगम के वार्ड क्रमांक-50 के पार्षद जे.श्रीनिवास राव ने बताया कि मृतका पी. शांति कुमारी, पति पी. भास्कर (27) को गुस्र्वार की शाम सीने में दर्द के साथ सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। जिसके बाद परिजन शांति को लेकर सेक्टर-9 अस्पताल के कैजुअल्टी पहुंचे। यहां ड्यूटी में उपस्थित डॉक्टर ने बिना जांच किए ही शांति को दूसरे अस्पताल ले जाने कह दिया।

मरीज की गंभीर हालत होने पर परिजनों ने डॉक्टर से मरीज की जांच करने की मांग की। इसके बावजूद डॉक्टर ने अस्पताल में बेड खाली न होने की बात कहकर मरीज को वापस लौटा दिया। परिजन आनन- फानन में शांति को निजी अस्पताल लेकर गए, जहां जांच के दौरान उसकी मृत्यु हो गई।

मृतका के परिजनों ने वार्ड पार्षद जे. श्रीनिवास राव से मिलकर घटना की जानकार दी। पार्षद जे. श्रीनिवास राव ने बताया कि मृतका की सात माह की दूधमुंही बच्ची है।

पार्षद ने कहा कि मामले की शिकायत बीएसपी सीईओ से की जाएगी। भविष्य में इस तरह की घटना की पुनरावृत्ति न हो इसके लिए केबिनेट मंत्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय, जिलाधीश और एसपी को ज्ञापन सौंपकर उचित कार्यवाही की मांग की जाएगी।