ड्रॉइंग टीचर ने इतना पीटा कि 11 साल के बच्चे के चेहरे पर लकवा मार गया

पुणे। 11 साल के बच्चे प्रसन्ना पाटिल को उसके टीचर ने इतनी बुरी तरह से पीटा कि उसका चेहरा पर आंशिक रूप से लकवा मार गया और आंख की रोशनी भी प्रभावित हुई। पुणे आधारित श्री शिवाजी प्रिपरेटरी मिलिटरी स्कूल के टीचर संदीप गडे को निलंबित कर दिया है और पुलिस ने बच्चे की पैरेंट्स की शिकायत के आधार उसे गिरफ्तार कर लिया। प्रसन्ना पाटिल के पैरेंट्स के मुताबिक यह घटना 1 से 3 नवंबर के बीच हुई।

प्रसन्ना के पिता शैलेंद्र किसान हैं और इंदापुर में रहते हैं। उनके मुताबिक, ‘3 नवंबर को मैं स्कूल होस्टल से अपने दोनों बेटों को लेने गया। मैने देखा कि प्रसन्ना का चेहरा और हाथ सूजा हुआ था। उसका चेहरा लकवाग्रस्त लग रहा था लेकिन मैंने सोचा कि यह किसी स्पोर्ट्स एक्टिविटी के कारण हुआ होगा, और उसके बारे में मैंने पूछा नहीं। लेकिन जब वह घर पहुंचा तो उसे बुखार आ गया।’

प्रसन्ना की आंटी एडवोकेट वर्षा भौसले ने मिड-डे को बताया, ‘इस घटना के बारे में तब पता चला जब उसकी मां ने नोटिस किया कि उसके चेहरे का बायां हिस्सा लटका हुआ था और तब इस बारे में उससे पूछा। उसने मां को बताया कि उसके ड्रॉइंग टीचर ने उसे बुरी तरह पीटा। उसका भाई उसे तुरंत अस्पताल ले गया जहां देखा कि उसके कंधे और पेट पर भी लाल और नीले निशान थे। उसके हाथ भी सूजे हुए थे।

उन्होंने कहा, ‘टीचर ने उसके हाथ बेंच पर रखवाए और उसके बाद अपनी मुठ्ठी से उसे सिर पर बार-बार मारा, उसके कई बार चांटे मारे और बाजुओं व पेट पर चिकुटी काटी। डॉक्टर ने हमें बताया कि इतनी पिटाई से प्रसन्ना की नसें प्रभावित हुई और उसके चेहरे पर आंशिक रूप से लकवा मार गया। प्रसन्ना की आंख की रोशनी भी प्रभावित हुई। हम टीचर को सजा दिलवाना चाहते हैं।’

उनके मुताबिक, ‘हमने स्कूल से इस घटना की सीसीटीवी फुटेज मांगी लेकिन अधिकारियों ने यह कहकर टाल दिया कि एक बार स्कूल खुल जाए तो वह इस मामले को देख लेंगे। हमने टीचर को निलंबित करने पर जोर दिया जिसने हमारे बच्ची की जिंदगी बर्बाद की। हमें पता चला है कि स्कूल में कई बच्चों को उस टीचर ने पीटा है।’

श्री शिवाजी प्रिपरेटरी मिलिटरी स्कूल की प्रिंसिपल स्मिता पाटिल ने कहा, ‘हमने टीचर को निलंबित कर दिया है और उस टीचर को लेकर एक कमिटी बनाई है। हमने मैनेजमेंट को इस घटना के बारे में जानकारी दे दी है।’

शिवाजीनगर पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर (क्राइम) प्रमोद वाघमारे ने कहा, ‘हम मामले की जांच कर रहे हैं। बच्चा का अभी इलाज चल रहा है और हम रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं। हमने टीचर को अरेस्ट कर लिया है।’