तीन तलाक बिल पेश होगा आज राज्यसभा मैं …

देश के बहुचर्चित मामले तीन तलाक पर आज राज्यसभा की मुहर लग जाएगी | इसे पास करना भाजपा के लिए कड़ी चुनौती होगा .क्योकि उनके पास पूर्ण बहुमत नहीं हे | इसलिए विपक्ष  का दबदबा कायम रह सकता हे |तो चलिए आप को बताते हे आपको पूरी खबर तीन तलाक पर पर मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) विधेयक-2017 बिल आज राज्य सभा में पेश किया जाएगा. लोक सभा में ये बिल पहले ही पारित हो चुका है   राज्य  सभा में बीजेपी के पास बहुमत नहीं है इसलिए बिल पास कराना मोदी सरकार के लिए टेड़ी खीर होगा. इस दौरान सरकार और विपक्षी दल आमने-सामने हो सकते हैं. सदन में सरकार का बहुमत नहीं है ऐसे में इस बिल को पास कराने में उसे कड़ी मशक्कत करनी पड़ सकती है। संभव है कि विपक्षी दल इसके पास होने की राह में रोड़ा बन जाएं क्योंकि लेफ्ट पार्टियां इसे लगातार सिलेक्ट कमेटी के पास भेजने की मांग कर रही हैं।दन में कांग्रेस का रुख भी इस बिल का भविष्य तय करेगा। वैसे कांग्रेस ने इस बिल का समर्थन किया है कांग्रेस ने इसमें कुछ खामियां गिनाते हुए बिल को संसद की स्थाई समिति में भेजने की मांग की थी। लेकिन सरकार ने उसे खारिज करते हुए कहा था कि जिसे जो कहना है, वह सदन में ही कहे।

राज्यसभा में सत्तारूढ़ दल की हालत नाज़ुक हे राज्यसभा में बीजेपी का बहुमत नहीं है. ऐसे में बिल को पास कराने के लिए दूसरे दलों के साथ की ज़रूरत है. 245 सदस्यीय राज्यसभा में राजग के 88 सांसद (बीजेपी के 57 सांसद सहित), कांग्रेस के 57, सपा के 18, BJD के 8 सांसद, AIADMK के 13, तृणमूल कांग्रेस के 12 और NCP के 5 सांसद हैं. अगर सरकार को अपने सभी सहयोगी दलों का साथ मिल जाता है, तो भी बिल को पारित कराने के लिए कम से कम 35 और सांसदों के समर्थन की जरूरत होगी.