त्रिपुरा, मेघालय और नागालैंड से जुड़ी 5 अनसुनी बातें, जानें क्या है खास

नई दिल्ली: मेघालय, त्रिपुरा और नागालैंड में विधानसभा चुनावों के परिणामों की गिनती जारी है. इससे पहले यहां जानिए इन तीनों राज्यों से जुड़ी कुछ खास बातें. आपको बता दें मेघालय की 60 सीटों में से 59 विधानसभा सीटों पर 27 फरवरी को हुए मतदान के लिए आज मतगणना हो रही है. इसी तरह त्रिपुरा और त्रिपुरा में भी कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतगणना जारी है. इन चुनावी परिणामों के पहले जानें इन तीनों राज्यों से जुड़ी कुछ खास बातें.

मेघालय
1. मेघालय में ट्रैकिंग, केविंग, रॉक क्लाइबिंग, हैंड ग्लाइडिंग और वाटर स्पोर्ट्स जैसे कई एडवेंचर से भरपूर खेल मौजूद हैं.
2. मेघालय की राजधानी शिलॉन्ग को ‘स्कॉटलैंड ऑफ द ईस्ट’ के नाम से भी जाना जाता है.
3. मेघालय पहले आसाम का ही हिस्सा था, लेकिन 21 जनवरी 1972 को खासी, गारो और जैंतिया हील्स जिलों को मिलाकर मेघायल राज्य बनाया गया.
4. मेघालय की आधिकारिक भाषा इंग्लिश है. इसके बाद खासी, पनार और गारो प्रमुख भाषाएं है.
5. मेघालय का 70 प्रतिशत हिस्सा जंगल है. इसी वजह से यह एशिया का सबसे उपजाऊ वनस्पति स्थान माना जाता है.

त्रिपुरा 
1. त्रिपुरा भारत का तीसरा सबसे छोटा राज्य है. यह सिर्फ 10,491 वर्ग में फैला हुआ है. इस राज्य की रेलवे लाइन सिर्फ 66 किलोमीटर में ही फैली हुई है.
2.  बंगाली और कोक बोरोक (त्रिपुरी भाषा) यहां की मुख्य भाषाएं हैं. ज्यादातर लोगों के बीच बांग्ला भाषा ही प्रमुख है.
3. यहां के रहने वाले लोगों का मुख्य उद्योग हैंडलूम यानी बुनाई है.
4. त्रिपुरा में दुर्गापूजा यहां का प्रमुख त्यौहार है.
5. त्रिपुरा में मुख्य पर्यटन केंद्र अगरतला, उदयपुर, त्रिपुरा सुन्दरी का मंदिर, नील महल, जामपुई हिल, सेफाजाला, पिलक और महामुनि हैं.

नागालैंड
1. मेघालय की ही तरह पहले नागालैंड भी आसाम का हिस्सा था.
2. भारत की आजादी के दौरान नागालैंड के नागा लोग अपना विकास चाहते थे. इसीलिए आजादी के बाद नागालैंड को भारत के 16वें राज्य के तौर पर 1 दिसम्बर, 1963 को औपचारिक रूप से बनाया गया.
3. नागलैंड मे 16 जनजातियां अंगामी, आओ, चखेसंग, चांग, दिमासा कचारी, खियमनिंगान, कोनयाक, लोथा, फोम, पोचुरी, रेंगमा, संगतम, सूमी, इंचुंगेर, कुकी और ज़ेलियांग.
4. नागालैंड में टूरिस्ट के लिए ट्रैकिंग, रॉक क्लाइबिंग, जंगल कैम्पिंग जैसे एडवेंचर से भरपूर खेल मौजूद हैं.
5. नागालैंड में सबसे ऊंची चोटी माउंट सरामति है जिसकी समुंद्र तल से ऊंचाई 3840 मीटर है.