दसवीं और बारहवीं में 3071 छात्रों को दिए जाएंगे 10 से 20 नंबर तक बोनस

रायपुर.दसवीं-बारहवीं बोर्ड परीक्षा में इस बार 3071 विद्यार्थियों को बोनस अंक मिलेगा। यह अंक दस से लेकर 20 तक होंगे। लोक शिक्षा संचालनालय ने माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) को संबंधित छात्रों की सूची भेज दी है। बोनस अंक पाने वाले विद्यार्थियों की यह संख्या पिछली बार की तुलना में 786 कम है। इनमें सबसे अधिक खिलाड़ियों को बोनस अंक मिलेगा। इस बार एनसीसी व एनएसएस की कैटेगरी में सिर्फ 6 विद्यार्थी है।

बोर्ड परीक्षाओं में बोनस अंक देने का फार्मूला करीब छह-सात साल पुराना है। इसके तहत विभिन्न कैटेगरी में विद्यार्थियों को 10 से लेकर 20 अंक तक देने का प्रावधान है। खिलाड़ी, स्काउट, एनसीसी, एनएसएस समेत अन्य की कैटेगरी में यह अंक दिए जाते हैं। इसका फायदा यह है कि बोनस अंक सैद्धांतिक परीक्षा में जोड़े जाएंगे। यह अंक उस विषय में जुड़ते हैं जिस विषय में इन अंकों की वजह से पास होने की स्थिति बनती है। यदि छात्र सभी विषयों में पास है तो यह अंक महायोग में जुड़ेगा। दसवीं में बड़ी संख्या में विद्यार्थियों को इसका लाभ मिला। पिछले कुछ बरसों की संख्या इस कक्षा के लाभार्थियों पर नजर डाले तो इनकी संख्या एक हजार से लेकर दो हजार तक है।
बोनस अंक के रूप में अतिरिक्त अंक प्राप्त करने वालों में सबसे अधिक खिलाड़ी ही रहते हैं। इस बार भी इनकी संख्या ही ज्यादा है। कुल 3071 में से 2163 सिर्फ इसी कैटेगरी से हैं।

दृष्टिबाधित को भी बोनस
दसवीं बोर्ड परीक्षा में शामिल हुए दृष्टिबाधित विद्यार्थियों को 9 अंक बोनस के रूप में दिए जाएंगे। मंडल सदस्य संजय जोशी ने दृष्टिबाधित बच्चों को परीक्षा में लिखने के लिए राइटर मिलता है। वे उससे नीचे कक्षा के छात्र होते हैं। अन्य विषय तो ठीक है लेकिन विज्ञान में परेशानी होती है। इसी बार ही 9 अंक के सवाल ऐसे थे जो चित्र पर आधारित थे। दृष्टिबाधित छात्रों को इस संबंध में अपने राइटर को बताने में दिक्कत होती है। इसलिए बोर्ड में यह निर्णय लिया गया है कि दसवीं के दृष्टिबाधित विद्यार्थियों को 9 बोनस अंक दिए जाएंगे। इसी बोर्ड परीक्षा में इसे मान्य किया गया है।

बोनस की छह कैटेगरी
बोर्ड परीक्षा में इस बाद करीब छह कैटेगरी में बोनस अंक दिए जाएंगे। इसमें खिलाड़ी, स्काउट, एनसीसी, एनएसएस, विद्याभारती, खेल एवं युवा कल्याण छात्र-छात्राओं का बोनस अंक शामिल हैं। इसके तहत इस बार सबसे अधिक खिलाड़ी कैटेगरी में 2163 विद्यार्थियों को लाभ मिलेगा। स्काउट गाइड कैटेगरी में कुल 743 विद्यार्थी हैं। एनसीसी में चार, एनएसएस में इन छात्रों की संख्या दो है। विद्याभारती की कैटेगरी में 101 और खेल एवं युवा कल्याण के तहत 58 विद्यार्थियों को बोनस अंक मिलेगा।