दिवाली के लिए पटाखा कारोबारियों को रीजनल पार्क के पास एक महीने का अस्थायी लाइसेंस

जिला प्रशासन ने दिवाली को देखते हुए शहर के पटाखा कारोबारियों को रीजनल पार्क के पास अक्टूबर में एक महीने के लिए अस्थायी लाइसेंस दिए हैं। मंगलवार को कलेक्टोरेट में लॉटरी निकाली जाएगी। रानीपुरा हादसे में आठ लोगों की मौत ने प्रशासन को इतना हिला दिया था कि उसने कारोबारियों की कोई बात नहीं मानी। अब दिवाली को देखते हुए प्रशासन अस्थायी लाइसेंस देने के लिए तैयार हुआ है।

इंदौर जिला पटाखा व्यापारी एसोसिएशन के सदस्यों की सोमवार को प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक हुई। इसके अध्यक्ष कैलाश बालचंदानी ने बताया कि कलेक्टर निशांत वरवड़े ने रीजनल पार्क के पास निजी जमीन पर अस्थायी तौर पर दुकानें लगाने की परमिशन दी है। तय सुरक्षा इंतजाम करने के लिए व्यवसायी तैयार हैं।

पेटलावद में जिलेटिन रॉड में विस्फोट और रानीपुरा में पटाखा गोदाम में हुए हादसे के बाद शहर के अंदर कई पटाखा कारोबारियों का कारोबार प्रशासन ने सख्ती से बंद करा दिया था। सारे लाइसेंस रद्द कर दिए गए थे। इससे पटाखा दुकानदारों का व्यवसाय ठप हो गया था। दोबारा कारोबार शुरू करने के लिए उन्होंने नेताओं के जरिये भी प्रशासन पर काफी दबाव डाला, लेकिन परमिशन नहीं मिली। कारोबारी लंबे समय से प्रशासन से अनुरोध कर रहे थे कि उन्हें शहर के बाहर ही सही, लेकिन स्थायी जगह दे दी जाए, ताकि वे अपना रोजगार चला सकें।