धार में महिला के साथ गैंगरेप, बहू को बचाने आई सास को पीटा, 2 दिन बाद महिला ने 5 युवकों के खिलाफ दर्ज करवाया केस

इंदौर.धार जिले के धामनोद में एक महिला से गैंगरेप का मामला सामने आया है। महिला के अनुसार खेत से घर लौटते समय पांच लोगों ने उसका रास्ता रोककर एकांत में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। महिला की रिपोर्ट पर पुलिस ने पांच लोगों के खिलाफ केस दर्जकर जांच शुरू कर दी है। महिला के अनुसार उसके साथ यह घटना मंगलवार 8 मई का घटी थी। परिवार के घर आने के बाद रिपोर्ट दर्ज करवाने थाने पहुंची।

महिला ने FIR में कहा, खेत से उठाकर ले गए थे

– पुलिस के अनुसार तालाबपुरा की रहने वाली 24 वर्षीय महिला ने गुरुवार को थाने पहुंची और पांच लोगों के खिलाफ गैंगरेप का केस दर्ज करवाया है। महिला ने बताया कि 8 मई को दोपहर में वह खेत पर काम कर रही थी। इसी दौरान गांव युवक उसके खेत पर आए। इनमें से तीन खेत में एक पेड़ के पास खड़े हो गए और एक युवक मेरे पास आ गया। युवक ने मुझे पकड़ा तो मैं चीखने लगी, इस पर उसने मुंह दबा दिया और उठाकर पेड़ के पास ले गया। यहां चारों ने मझे घेर लिया। इसी दौरान गांव का ही एक अन्य युवक भी वहां आ गया और फिर सभी ने बारी-बारी से मेरे साथ गलत काम किया। मैंने चीखने की कोशिश की तो युवकों ने मेरा मुंह दबा दिया। जैसे-तैसे मैंने छूटकर मदद के लिए आवाज लगाई तो मेरी सास ने मेरी चीख सुन ली।

मेरी चीख सुन सास आई तो उसे भी पीटा

– महिला ने पुलिस को बताया कि दुष्कर्म के दौरान जब मैंने वह चिल्लाई तो उसकी चीख सुन उसकी सास दौड़कर मौके पर पहुंची। सास ने जब आरोपियों को भगाने की कोशिश की तो सभी ने मिलकर मेरी सास और मुझे डंडे से पीटा। मारपीट के बाद उन्होंने किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी और वहां से भाग गए।

डर के मारे नहीं आई थाने

– महिला ने बताया कि 8 मई को घटना के बाद वह घर पहुंची और अपने काका ससुर को पूरी बात बताई। काका ससुर के कहने पर मांडू में अपने रिश्तेदार को पूरे मामले की जानकारी दी। घटना के बाद मैं इतना डर गई थी कि थाने आने की हिम्मत ही नहीं कर पाई। गुरुवार को मांडू से मेरे रिश्तेदार घर आए और परिजनों के हौंसला देने के बाद रिपोर्ट दर्ज करवाने की हिम्मत कर थाने पहुंची। महिला के साथ आई सास ने भी उसके साथ मारपीट होने की जानकारी पुलिस को दी।

पांच लोगों पर केस दर्ज

– महिला की रिपोर्ट पर पर पुलिस ने संदीप पिता जगदीश, संजय पिता जगदीश, दिनेश पिता भागीरथ, संतोष पिता भागीरथ, रामदास पिता मिश्रीलाल के खिलाफ गैंगरेप का मामला दर्ज किया है। पुलिस के अनुसार महिला की रिपोर्ट की जांच की जा रही है। मामले में जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

महिला अपराध रोकने के लिए 20 थानों में बनेगी ‘मध्य महिला हेल्प डेस्क’

– महिलाओं के प्रति होने वाले अपराध और शिकायतों को लेकर पुलिस मुख्यालय ने एक विशेष प्रोजेक्ट शुरू किया है। प्रोजेक्ट के पहले चरण में प्रदेश के 12 जिलों को शामिल किया है। पायलेट प्रोजेक्ट के तहत महिलाओं के लिए थानों में विशेष रूप से मध्य महिला हेल्प डेस्क (एमएचडी) के नाम से एक अतिरिक्त सेल बनाया जाएगा। यहां महिलाओं संबंधी शिकायतों की पुलिस अधिकारी विशेष रूप से सुनवाई कर उन पर त्वरित एक्शन लेंगे। इस सेल की मॉनिटरिंग पुलिस मुख्यालय भोपाल से होगी। डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र ने बताया कि इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर, मुरैना, पन्ना, बैतूल, बालाघाट सहित अन्य 12 जिलों में ये प्रोजेक्ट शुरू किया गया है। यहां सर्वाधिक महिलाओं से जुड़े संवेदनशील मामले सामने आते हैं। इस मध्य महिला हेल्प डेस्क के अंतर्गत एक टीम ये रिसर्च करेगी।

पुलिसकर्मियों को देंगे ट्रेनिंग
– डीआईजी ने बताया कि जिस थाने में महिला बल नहीं है उस थाने में पुरुष कैसे महिलाओं के साथ व्यवहार करे और उनकी शिकायत लें, इसके लिए भी उन्हें ट्रेंड किया जाएगा। पहले चरण में इंदौर के 20 थानों में ये पायलट प्रोजेक्ट की तर्ज पर शुरू होगा।