नई कार के साथ अब डीलरों को देना होंगे डस्टबिन

 नई कारों की बिक्री के बाद उनकी डिलिवरी देते हुए ऑटोमोबाइल डीलर्स को कारों के अंदर डस्टबिन लगाकर देना होंगे। इस बारे में नगर निगम अफसरों ने बुधवार को कार डीलर्स की बैठक लेकर निर्देश दिए। डीलर्स ने भी इस पर सहमति जता दी है।

स्वच्छता सर्वेक्षण-2018 की तैयारियों को लेकर निगमायुक्त मनीष सिंह और अपर आयुक्त रोहन सक्सेना ने कार डीलर्स, एनजीओ और कैब संचालकों की बैठक ली। अधिकारियों ने कहा 2 अक्टूबर को महापौर ने कार चालकों को डस्टबिन बांटे थे।

शहर को साफ रखने के लिए हर गाड़ी में ये जरूरी है। इस दिशा में डीलर्स को आगे आकर डस्टबिन उपलब्ध कराना चाहिए। डीलर्स ने सहमति दी और हैंगिंग डस्टबिन लगाने की बात भी कही। कुछ डीलर्स ने कहा वे पहले ही इसे लगाना शुरू कर चुके हैं।

टैक्सी चालकों को भी लगाना होंगे

ऊबर, ओला सहित अन्य कैब सेवा संचालकों की भी बैठक बुलाई गई। उन्हें भी निर्देश दिया गया कि वे गाड़ियों में डस्टबिन लगाएं। साथ ही सवारियों को कचरा बाहर नहीं फेंकने दें। तीनों पेट्रोल कंपनियों के अधिकारियों के साथ महापौर मालिनी गौड़ ने बैठक कर निर्देशित किया कि सभी पंपों पर शौचालय बनाए जाएं। इनका ग्राहक बिना शुल्क उपयोग कर सकेंगे।