नक्सली इलाके में छुपा था फरार हत्यारा, दस साल बाद ऐसे पकड़ाया

क्राइम ब्रांच ने हत्या के आरोप में फरार एक बदमाश को गिरफ्तार किया है। पुलिस उसकी दस साल से तलाश कर रही थी। आरोपी छत्तीसगढ़ में नक्सली क्षेत्र में छिपा हुआ था। गिरफ्तारी के बाद थाने में आरोपी का रिकॉर्ड खंगाला तो केस डायरी ही गायब थी। पुलिस कोर्ट में दस्तावेज तलाश रही है।

एएसपी (क्राइम) के मुताबिक क्राइम ब्रांच हत्या व लूट के आरोप में लंबे समय से फरार आरोपियों की तलाश कर रही थी। इसी दौरान सूचना मिली कि महू (कोतवाली) थाने से आरोपी सतीश यादव भी फरार है। पुलिस ने उसके परिजन से पूछताछ की, लेकिन उन्होंने नहीं बताया। इसी दौरान रिश्तेदारों से उसके मोबाइल नंबर मिल गए।

टीम को उसकी लोकेशन रायगढ़ (छग) की मिली। एक टीम वहां रवाना की गई और शनिवार सुबह उसे गिरफ्तार कर लिया। क्राइम ब्रांच ने आरोपी को महू पुलिस के सुपुर्द किया, तब पता चला उसके खिलाफ हत्या का केस दर्ज है। अफसरों ने कोर्ट में पेश करने के लिए केस डायरी तलाश की, लेकिन मालखाने से डायरी ही नहीं मिली।

टीआई के मुताबिक मामला वर्ष 2007 का है। आरोपी ने उषा यादव नामक महिला की हत्या की थी। वर्षों बाद भी आरोपी का सुराग नहीं मिलने पर तत्कालीन टीआई ने फरारी में ही चालान पेश कर दिया। पुलिस कोर्ट से भी जानकारी निकाल रही है।

हुलिया बदल लिया था

एएसपी के मुताबिक सतीश ने हुलिया भी बदल लिया था। पुलिस उसके मददगार और संपर्क सूत्रों की जांच कर रही है। आरोपी ने बताया कि पुलिस से बचने के लिए रिश्तेदारों से मोबाइल पर बात नहीं करता था। उसने फरारी के दौरान शहर में आना भी कबूल किया है।