नारायणपुर : वृहद किसान मेला एवं पंच-सरपंच सम्मेलन सह कृषि प्रदर्शनी संपन्न : बोनस तिहार में किसानों को 2 करोड़ 97 लाख रूपये बोनस राशि वितरित

राज्य सरकार प्रदेष के किसानों के हितों की संरक्षण की दिषा में पूरी संवेदनषीलता के साथ कटिबद्ध है। सरकार जहां किसानों के आर्थिक विकास हेतु अनेक जनहितकारी योजनाएं संचालित कर रही है। वहीं किसानों की कड़ी मेहनत से उत्पादित धान का समुचित मूल्य देने सकारात्मक पहल कर रही है। इस दिषा में समर्थन मूल्य पर धान का एक-एक दाना खरीदने के लिए हरसंभव पहल किया जा रहा है। वहीं धान का बोनस राषि मेहनतकष किसानों को प्रदान करने के लिए सकारात्मक निर्णय लेकर अपना वादा पूरा कर रही है। मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह के नेतृत्व में प्रदेष सरकार राज्य के किसानों को बोनस तिहार के तहत धान बोनस राषि प्रदान कर किसानों को दीवावली पर्व के पहले खुषियां बांट रही है। यह बात प्रदेष के राजस्व एंव उच्च षिक्षा मंत्री श्री प्रेमप्रकाष पाण्डेय ने नारायणपुर में आयोजित वृहद किसान मेला एवं पंच-सरपंच सह कृषि प्रदर्षनी में किसानों और पंचायत पदाधिकारियों का संबोधित करते हुए कही। इस अवसर पर उन्होंने जिले के अबूझमाड़ ब्लाक मुख्यालय ओरछा में आगामी वर्ष से औद्योगिक प्रषिक्षण संस्था प्रारंभ करने की स्वीकृति दी। इस मौके पर महिला एवं बाल विकास मंत्री तथा प्रभारी मंत्री जिला नारायणपुर श्रीमती रमषीला साहू ने कहा कि राज्य सरकार किसानों की समृद्धि के लिए अनेक जनहितकारी योजनाएं संचालित कर रही है। इस दिषा में किसानों को कृषि तथा अन्य आनुषांगिक विभागों की जनकल्याणकारी योजनाओं-कार्यक्रमों से लाभान्वित होकर विकास की ओर अग्रसर होने के लिए आगे आना होगा। इस अवसर पर स्कूली षिक्षा मंत्री श्री केदार कष्यप ने स्थानीय हल्बी बोली में किसानों और ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा किसानों के आर्थिक विकास से ही प्रदेष और देष का आर्थिक विकास संभव है। इसे ध्यान रखते हुए राज्य सरकार किसानों को ब्याजमुक्त कृषि ऋण, सिंचाई संसाधनों के विकास हेतु सहायता, खाद-बीज की सुलभता, रियायती दर पर बिजली की सुलभता के साथ ही विद्युत सुविधाविहीन ईलाके के किसानों को सोलर सिंचाई पंप के लिए सहायता सुलभ करा रही है। किसानों को इन योजनाओं से लाभान्वित होकर अपनी खुषहाली के लिए आगे आना होगा। इस दौरान संासद बस्तर श्री दिनेष कष्यप ने स्थानीय हल्बी बोली में कहा कि मुख्यमंत्री ने किसानों को धान का बोनस देकर दीवाली का उपहार दिया है। अब किसान दीवाली का त्यौहार खुषीपूर्वक मनायेंगे। उन्होंने शासन की विभिन्न योजनाओं को रेखांकित करते हुए कहा कि राज्य सरकार किसानों की आर्थिक विकास के लिए पूरी संवेदनषीलता के साथ संकल्पित है। इस मौके कलेक्टर श्री टोपेष्वर वर्मा ने बताया कि जिले में वर्ष 2016-17 के तहत् 2 हजार 315 किसानों ने समर्थन मूल्य पर 99 हजार 210 क्ंिवटल धान का विक्रय किया था, इन सभी किसानों को कुल 2 करोड़ 97 लाख 63 हजार 120 रूपये धान बोनस राषि प्रदान किया जा रहा है। यह बोनस राषि संबंधित किसानों के बैंक खाते में तत्काल जमा किया जायेगा। इस अवसर पर किसानों को धान बोनस राषि का प्रमाण पत्र प्रदान किया गया। इस दौरान किसानों को 44 स्प्रिंकलर, 25 उड़ावानी पंखा, 10 स्प्रेयर सहित 800 पैकेट चनाबीज मिनीकिट प्रदान किया गया। वहीं उद्यानिकी विभाग के द्वारा 800 पैकेट सब्जीबीज मिनीकिट किसानों और स्व सहायता समूहों को वितरित किया गया। इसके साथ ही श्रम विभाग के द्वारा विभिन्न हितग्राहीमूलक योजनाओं के तहत् 67 हितग्राहियों को 2 लाख 84 हजार 480 रूपये का चेक प्रदान किया गया। आरंभ में अतिथियों ने कृषि, उद्यानिकी, मत्स्यपालन, पषुपालन, रेमषपालन, पंचायत एवं ग्रामीण विकास इत्यादि विभागों के द्वारा लगायी गयी स्टॉल का अवलोकन कर विभागीय गतिविधियों के संचालन तथा योजनाओं-कार्यक्रमों के क्रियान्वयन के बारे में जानकारी ली। इस अवसर पर अतिथियों का पारंपरिक लोकनृत्य के साथ उत्साहपूर्वक आत्मीय स्वागत किया गया। वहीं जिला प्रषासन द्वारा अतिथियों को स्मृति चिन्ह प्रदान किया गया। इस मौके पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती प्रमिला उईके सहित क्षेत्र के जनप्रतिनिधी, पंचायत पदाधिकारी और कलेक्टर श्री टोपेष्वर वर्मा, पुलिस अधीक्षक श्री संतोष सिंह, डीएफओ सुश्री स्टॉयलो मंडावी, सीईओ जिला पंचायत श्री अषोक चौबे के अलावा जिला प्रषासन के अधिकारी तथा बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक और किसान तथा ग्रामीणजन मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन बाल विकास परियोजना अधिकारी अबूझमाड़ श्रीमती प्रतिभा शर्मा और जिला परियोजना समन्वयक श्री आरपी मिरे ने किया। वहीं आभार प्रदर्षन सीईओ जिला पंचायत श्री अषोक चौबे ने किया।