नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह की चित्रकूट में प्रतिष्ठा दांव पर, प्रत्याशी के चार दावेदार

सतना जिले की चित्रकूट विधानसभा सीट पर होने जा रहे उपचुनाव की तारीख घोषित होने के बाद कांग्रेस में प्रत्याशी चयन को लेकर हलचल तेज हो गई है। दिवंगत विधायक प्रेमसिंह के रिश्ते के दामाद सहित चार नेता दावेदार हैं, लेकिन मजबूत दावेदारी दो नेताओं की मानी जा रही है।

चित्रकूट विधानसभा क्षेत्र में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के प्रभाव वाला इलाका होने से उनकी प्रतिष्ठा दांव पर है। यहां सोमवार से नामांकन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी, जिसका 24 को अंतिम दिन है। कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में क्षेत्र के चार लोगों के नाम चर्चा में हैं, जिनमें दिवंगत विधायक के दामाद संजय कछवाय सहित नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष नीलांशु चतुर्वेदी, जिला पंचायत सदस्य नीता सिंह पंवार और जिला कांग्रेस के महामंत्री कमलेश मिश्रा शामिल हैं।

कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में संजय कछवाय को सहानुभूति वोट के कारण सबसे सशक्त दावेदार माना जा रहा है। मगर नगर पालिका चित्रकूट की अध्यक्ष प्राची के भाई और नपा के पूर्व अध्यक्ष नीलांशु चतुर्वेदी की दावेदारी भी मजबूत है। नपा अध्यक्ष के नाते उनके द्वारा क्षेत्र में किए गए काम को आधार बताते हुए वे दावेदारी कर रहे हैं। माना जा रहा है कि भाजपा प्रत्याशी का ऐलान होने के बाद कांग्रेस अपना प्रत्याशी घोषित करेगी। सूत्र बताते हैं कि प्रत्याशी तय करने में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह की भूमिका अहम होगी।

मुंगावली में भी तैयारियां

दिवंगत विधायक महेंद्र सिंह कालूखेड़ा के कारण रिक्त हुई मुंगावली विधानसभा सीट को लेकर भी कांग्रेस सक्रिय है। हालांकि अभी यहां उपचुनाव की तारीख घोषित नहीं हुई है, लेकिन दावेदारों की क्षेत्र में सक्रियता बढ़ गई है। कालूखेड़ा के भाई केके सिंह सहित सांसद प्रतिनिधि डॉ. केपी यादव, जिला किसान कांग्रेस के बृजेंद्र सिंह यादव व सरपंच-मंडी के डायरेक्टर नरेंद्र सिंह यादव प्रमुख दावेदार हैं।