पाकिस्तान ने सुरक्षा जांच उपायों का किया बचाव….

भारतीय कैदी कुलभूषण जाधव को उनकी मां एवं पत्नी से मिलवाने के दौरान सख्त सुरक्षा उपाय करने का आज एक बार फिर बचाव करते हुए पाकिस्तान ने दावा किया कि उन उपायों पर भारत के साथ द्विपक्षीय सहमति बनी थी। बता दे की यह देश का सबसे चर्चित मामला बनता जा रहा हे |सरकार से लेकर विपक्ष तक सब जाधव के परिवार के साथ खड़े होते दिखाई दे रहे हे |वही पर पडोसी देश अपना बचाव करता साफ दिख रहा हे |उनके विदेश मंत्री विदेश ने भारत के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि 25 दिसंबर को पत्नी और मां से जाधव की मुलाकात मानवता के आधार पर कराई गई थी। उन्होंने कहा कि पहले तो मुलाकात का वक्त 30 मिनट ही तय था, लेकिन अनुरोध पर इसे बढ़ाकर 40 मिनट किया गया। उन्होंने दावा किया कि जाधव की मां ने मुलाकात के बाद पाकिस्तान का शुक्रिया अदा किया था।विदेश मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान की ओर से ‘‘मानवता दिखाने से’’ यह तथ्य खत्म नहीं हो जाता कि ‘‘जाधव भारतीय नौसेना का एक सेवारत अधिकारी है और एक दोषी भारतीय आतंकवादी एवं जासूस है।’’ उन्होंने कहा कि इसी वजह से समग्र सुरक्षा जांच जरूरी थी। कूटनीतिक माध्यमों से दोनों देश इस पर पहले ही सहमत हो चुके थे। जाधव के परिवार से ‘‘आदर एवं गरिमा’’ के साथ बर्ताव किया गया और पूरी तरह सुरक्षा कारणों से कपड़े बदलवाए गए एवं गहने उतरवाए गए।
जाधव के परिवार से की बदसलूकी :
पाकिस्तानी जेल में बंद कुलभूषण जाधव को 25 दिसंबर के दिन अपनी मां और पत्नी से मिलने की अनुमति दी गई। भारत और पाकिस्तानी मीडिया की नजर भी इस मुलाकात पर थी। हालांकि कुछ बुरे अनुभवों के साथ यह मुलाकात तो पूरी हो गई और जाधव की मां-पत्नी वापस भारत लौट आए हैं। साथ ही उन्होंने यह तक कहा की पाक में हमारे साथ बहुतबुरा बर्ताव करा |और तरह तरह के विचित्र सवाल पूछे |