पुरई के तैराकों का आज आखिरी दिन, जल्द तय होगा किसे मिलेगी बोर्डिंग में जगह

रायपुर। अंतरराष्ट्रीय स्वीमिंग पूल में साई सेंटर रायपुर ने 35 तैराकों को विशेष ट्रेनिंग देने के लिए एक महीने का कैंप आयोजित किया। 29 जून को शाम को पांच बजे कैंप का समापन होगा। दुर्ग के पुरई गांव के होनहार तैयारों को तकनीकी रूप से ट्रेंड किया गया। कैंप में शामिल तैराकों का रिकॉर्ड तैयार किया गया है, जिसके आधार पर साई सेंटर द्वारा उनका चयन बोर्डिंग और डे-बोर्डिंग एकेडमी के लिए किया जाएगा।

बता दें कि पुरई गांव के तालाब में तैराकी सीख कर राष्ट्रीय स्तर पर मेडल जीते, लेकिन कई बार सुविधाएं न मिल पाने की वजह से इन्हें हार का सामना करना पड़ा था। होनहार खिलाड़ियों को लेकर ‘नईदुनिया’ ने एक के बाद एक खबर स्थानीय और राष्ट्रीय स्तर पर प्रकाशित की, जिसके बाद भारतीय खेल मंत्रालय दिल्ली ने साई सेंटर भोपाल को पत्र लिखा।

साई रीजनल सेंटर भोपाल ने रायपुर स्थित साई सेंटर को पत्र लिखकर पुरई गांव के तैराकों का ट्रायल लेने को कहा। ट्रायल गांव के 35 खिलाड़ियों का ट्रायल वहीं के तालाब में लिया गया। वहां से सभी खिलाड़ियों का चयन कर एक महीने की ट्रेनिंग अंतरराष्ट्रीय स्वीमिंग पूल रायपुर में दी गई।

एक-एक खिलाड़ियों का वीडियो तैयार

कैंप में शामिल 35 खिलाड़ियों का रिकॉर्ड तैयार किया गया है। अगल-अलग इवेंट में तैराकों की टाइमिंग के साथ उनकी वीडियो रिकॉर्डिंग की गई है। उनका रनिंग सहित अन्य फिजिकल टेस्ट लिया गया। अब खिलाड़ियों की परफॉर्मेंस को देखले हुए इनका चयन बोर्डिंग और डे-बोर्डिंग के लिए होगा।