पुराने वारंटियों को पकड़ने निकली पुलिस विभाग की टीम

पुलिस विभाग द्वारा पुराने वारंटियों को पकड़ने अभियान चलाया जा रहा है। बुधवार को पुलिस की टीम ने पुराने वारंटियों की कुंडली खंगाली। पुलिस को सूचना है कि समझाइश के बाद भी ये अपराध में लिप्त हैं।

पुलिस विभाग द्वारा वारंटियों को पकड़ने के लिए लगातार अभियान चलाया जा रहा है। इसमें पुलिस को सफलता भी है। पिछले दो अभियान में पुलिस ने लगभग ढाई सौ से ज्यादा वारंटियों को पकड़ कर जेल भेजा है। बुधवार को पुलिस की टीम ने अभियान के तहत फिर वारंटियों के ठिकानों पर छापा मार कर जांच की। इन वारंटियों के बारे में पुलिस को अपराध में लिप्त होने जैसे गांजा प्रकरण, बाइक चोरी, मोबाइल चोरी के बारे में जानकारी मिली है। वहीं कुछ पुराने अपराधी, जो राजनीति में सक्रिय हो गए हैं और लोगों को राजनीतिक पहुंच का धौंस देकर जमीन सहित अन्य मामलों की ठगी कर रहे हैं, इसकी भी जांच पुलिस द्वारा की जा रही है। बुधवार को पुलिस ने दो वारंटियों से पूछताछ की। इसमें से श्याम नामक आरोपी ने कोहका क्षेत्र में फर्जी जमीन को धोखाधड़ी कर बेच दिया। प्रार्थी ने जब मामले की शिकायत थाने में की तो आरोपी प्रार्थी को धमकाने लगा। इसी प्रकार छावनी क्षेत्र से महेश नाम वारंटी से पूछताछ की गई। महेश चोरी के मामले में शामिल होने की फिराक में था। दरअसल पिछले दिनों एक ऑटो चालक ने महिला की चेन छीनकर भाग निकला था, जिसके बाद से पुलिस पुराने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है।

‘पुराने वारंटियों की जांच चल रही है। इन्हें समझाइश भी दी गई थी, लेकिन कुछ आदतन अपराधी सुधरना नहीं चाहते। ऐसे लोगों से पुलिस ने आज पूछताछ की है। जांच में अपराध सिद्ध होने पर कार्रवाई करेंगे।’

-शशिमोहन सिंह, एएसपी शहर दुर्ग