पैसा नहीं दिया तो मरीज की कोहनी के बजाय कलाई का ऑपरेशन

जयपुर। राजस्थान के भरतपुर में एक सरकारी अस्पताल के डॉक्टर पर गलत ऑपरेशन करने का आरोप लगा है। मरीज का आरोप है कि डाॅक्टर ने हाथ में फ्रेक्चर के मामले में भामाशाह योजना में निःशुल्क इलाज करने का झांसा देकर उसे कृष्णा नगर स्थित निजी अस्पताल में बुलाया भर्ती करने के बाद उससे 10 हजार रुपए की मांग की। जब उसने रुपए देने से इनकार किया, तो डॉक्टरों ने हाथ की कोहनी के बजाय कलाई का ऑपरेशन कर दिया।

74 साल के गजराज सिंह ने इस मामले में पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई है और इसमें आरोप लगाया है कि डाॅक्टरों ने उसे डिस्चार्ज टिकट दिए बिना ही बाहर कर दिया। इस बारे में संबंधित डॉ. राजेंद्र गोयल ने 10 हजार रुपए मांगने और गलत ऑपरेशन करने का आरोप निराधार बताया है।

उधर डॉ. अंकित बंसल ने कहा कि गजराज सिंह को फैक्चर होने पर हमारे अस्पताल में ऑपरेशन के लिए भर्ती कराया गया था। लेकिन हमारे द्वारा उससे 10 हजार रुपए मांगे जाने का आरोप पूरी तरह गलत है, क्योंकि मैं तो दिमाग का ऑपरेशन करता हूं, न कि हड्डियों का।